25 नवंबर के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

भारत में राष्ट्रीय कैडेट कोर की स्थापना हुई

रायपुर |आज हम आपको बताने जा रहे हैं देश विदेश में आज के दिन की ख़ास जानकारियां। आज के इतिहास में 25 नवंबर को हुए महत्वपूर्ण लोगों के जन्म,निधन और कई आश्चर्य घटनाओं की जानकारी आपको होगी।

आज हुई थी NCC की स्थापना
25 नवंबर 1948 में भारत में राष्ट्रीय कैडेट कोर यानी एनसीसी की स्थापना हुई थी। राष्ट्रीय कैडेट कोर नई दिल्ली मंए अपने मुख्यालय के साथ भारतीय सैनिक कैडेट कोर है। यह स्वैच्छिक आधार पर स्कूल और कॉलेज के छात्रों के लिए खोला गया है। राष्ट्रीय कैडेट कोर देश के युवाओं को सवारने में लगी सेना नौसेना और वायुसेना का त्रिकोणीय सेवा संगठन है। इसके अंतर्गत एनसीसी कैडेटों को छोटे हथियारों और परेड में बुनियादी सैन्य प्रशिक्षण दिया जाता है। अधिकारियों और कैडेटों को सैन्य सेवा के लिए कोई दायित्व नहीं है लेकिन कोर में उपलब्धियों के आधार पर चयन के दौरान सामान्य उम्मीदवारों पर वरीयता दी जाती है। एनसीसी की उत्पत्ति सेना की कमी को बनाने के लिए वस्तु के साथ, भारतीय रक्षा अधिनियम १९१७ के तहत बनाया गया था। एनसीसी सबसे पहले जर्मनी में 1666 में इसकी शुरुआत हुई थी। भारत में एनसीसी 1948 में राष्ट्रीय कैडेट कोर अधिनियम के साथ बनाई गई थी।

भारत में STD सेवा हुई थी शुरू
अपने देश में एसटीडी सेवा की शुरुआत 25 नवंबर 1960 से हुई। पहली कॉल कानपुर और लखनऊ के बीच की गई। इससे ‘ट्रंक कॉल’ के लिए ऑपरेटर की सहायता लेनी बंद होने लगी।जब हर क्षेत्र को अपना एसटीडी कोड मिल गया, तो 1979 से यह सेवा आम हो गई। उल्लेखनीय है की सबस्क्राइबर ट्रंक डायलिंग यानि STD एक ऐसी प्रणाली है जो बिना किसी ऑपरेटर की सहायता के ही ट्रंक डायलिंग (स्थानीय टेलीफोन एक्सचेंज के बजाय अन्य दूरस्थ टेलीफोन एक्सचेंज में स्थित टेलीफोन उपभोक्ता से टेलीफोन से जुड़ना) सम्भव बनती है। इसके आने के पूर्व दूर के स्थानों को टेलीफोन करने के लिए ऑपरेटर की मदद आवश्यक थी। ‘एसटीडी’ शब्द का उपयोग भारत, युनाइटेड किंगडम, आयरलैण्ड, आस्ट्रेलिया और दक्षिण-पूर्व एशिया के देशों में होता है। यूएअए और कनाडा आदि उत्तरी अमेरिकी देशों में इसी तरह के काम के लिए जो संख्या प्रयुक्त होती है उसे ‘डायरेक्ट डिस्टैन्स डायलिंग’ कहते हैं।

25 नवंबर के इतिहास में कई ऐसी महत्वपूर्ण घटनाये दर्ज है जिनमें………

1866 – इलाहाबाद उच्च न्यायालय का उद्घाटन।
1879 – प्रसिद्ध लेखक, शिक्षाविद और भारतीय संस्कृति के प्रचारक टी.एल.वासवानी का निधन हुआ।
1890 – पारसी रंगमंच शैली के हिन्दी नाटककारों में प्रमुख राधेश्याम कथावाचक का जन्म हुआ।
1890 – भारत के प्रसिद्ध भाषाविद, साहित्यकार तथा विद्याशास्त्री सुनीति कुमार चटर्जी का जन्म हुआ।
1898 – मशहूर फिल्म निर्देशक और संगीत में ध्वनि के जानकार देवकी बोस का जन्म हुआ।
1948 – भारत में राष्ट्रीय कैडेट कोर यानी एनसीसी की स्थापना हुई।
1949 – स्वतंत्र भारत के संविधान पर संवैधानिक समिति के अध्यक्ष ने हस्ताक्षर किये तथा इसे तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया।
1951 – अमेरिकी प्रान्त अल्बामा में हुए ट्रेन दुघर्टना में 17 लोगों की मौत।
1960 – टेलीफोन की एसटीडी व्यवस्था का भारत में पहली बार कानपुर और लखनऊ के बीच प्रयोग किया गया।
1965 – फ्रांस ने अपना पहला सेटेलाइट लांच किया।
1969 – त्रिपुरा के राजनीतिज्ञ एवं त्रिपुरा के 10वें मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब का जन्म हुआ।
1974 – नेपाल में एक पुल के ढहने से लगभग 140 लोग मरे।
1975 – हिन्दी फिल्मों के प्रसिद्ध निर्माता, निर्देशक और पटकथा लेखक चन्दूलाल शाह का निधन हुआ।
1981 – हिन्दी फिल्मों के प्रसिद्ध संगीतकार आर.सी.बोराल का निधन हुआ।
1982 – भारत की प्रसिद्ध महिला क्रिकेटर झूलन गोस्वामी का जन्म हुआ।
1984 – भारत के पांचवे उपप्रधानमंत्री और महाराष्ट्र के प्रथम मुख्यमंत्री यशवंतराव चव्हाण का निधन हुआ।
1987 – परमवीर चक्र सम्मानित भारतीय सैनिक मेजर रामास्वामी परमेश्वरन का निधन हुआ।
2001 – बेनजीर भुट्टो नई दिल्ली में प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से मिलीं।
2004 – पाक राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के कश्मीर फार्मूले को पाक-कश्मीर समिति ने खारिज किया।
2014 – भारत की प्रसिद्ध कथक नृत्यांगना सितारा देवी का निधन हुआ।

संबंधित पोस्ट

17 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओं की जानकारी

16 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

15 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

14 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

13 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

11 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

10 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

09 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

08 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

07 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

06 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

04 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी