30 दिसंबर के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

इसरो के संस्थापक वैज्ञानिक डॉ.विक्रम साराभाई का निधन हुआ था

रायपुर | आज हम आपको बताने जा रहे हैं देश विदेश में आज के दिन की ख़ास जानकारियां। आज के इतिहास में 30 दिसंबर को हुए महत्वपूर्ण लोगों के जन्म,निधन और कई आश्चर्य घटनाओं की जानकारी आपको होगी।

जाने माने वैज्ञानिक विक्रम साराभाई का निधन
30 दिसंबर 1971 को भारत के प्रमुख वैज्ञानिक विक्रम साराभाई का निधन हुआ। साराभाई ने 86 वैज्ञानिक शोध पत्र लिखे और 40 संस्थान खोले। विक्रम साराभाई को विज्ञान में उनके कार्यों को देखते हुए साल 1962 में शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में वर्ष 1966 में भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से उन्हें सम्मानित किया गया। डॉ॰ विक्रम साराभाई के नाम को भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम से अलग नहीं किया जा सकता। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन’ (इसरो) की स्थापना विक्रम साराभाई ने की थी। रूसी स्पुतनिक के लॉन्च के बाद उन्होंने इसरो की स्थापना के बारे में सोचा था। यह जगप्रसिद्ध है कि वह विक्रम साराभाई ही थे जिन्होंने अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में भारत को अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर स्थान दिलाया। लेकिन इसके साथ-साथ उन्होंने अन्य क्षेत्रों जैसे वस्त्र, भेषज, आणविक ऊर्जा, इलेक्ट्रानिक्स और अन्य अनेक क्षेत्रों में भी बराबर का योगदान किया।

हिन्दी के साहित्यकार रघुवीर सहाय का निधन
30 दिसंबर 1990 को हिंदी के साहित्यकार और पत्रकार रघुवीर सहाय का निधन हुआ। उन्हें वर्ष 1982 में उनकी पुस्तक “लोग भूल गए हैं” के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया गया। उनकी अन्य पुस्तकें “आत्महत्या के विरुद्ध” , “हंसो हंसो जल्दी हंसो” और “सीढ़ियों पर धूप में” भी काफी चर्चित रही। सहाय की गिनती ऐसे कवियों में भी की जाती है जो प्रेरणा के लिए अतीत में झांकने के बजाय भविष्योन्मुखी रहना पसंद करते थे। रघुवीर सहाय समकालीन हिन्दी कविता के महत्वपूर्ण स्तम्भ हैं। उनके साहित्य में पत्रकारिता का और उनकी पत्रकारिता पर साहित्य का गहरा असर रहा है। उनकी कविताएँ आज़ादी के बाद विशेष रूप से सन् ’60 के बाद के भारत की तस्वीर को समग्रता में पेश करती हैं। उनकी कविताएँ नए मानव संबंधों की खोज करना चाहती हैं जिसमें गैर बराबरी, अन्याय और गुलामी न हो। उनकी समूची काव्य-यात्रा का केंद्रीय लक्ष्य ऐसी जनतांत्रिक व्यवस्था की निर्मिति है जिसमें शोषण, अन्याय, हत्या, आत्महत्या, विषमता, दासता, राजनीतिक संप्रभुता, जाति-धर्म में बँटे समाज के लिए कोई जगह न हो।

30 दिसंबर के इतिहास में कई ऐसी महत्वपूर्ण घटनाये दर्ज है जिनमें………

1893 रूस और फ्रांस ने सैन्य समझौते पर हस्ताक्षर किये।
1906 अखिल भारतीय मुस्लीम लीग की स्थापना ढाका (अब बंगलादेश) में हुई।
1919 लंदन में वकालत के लिए प्रथम महिला विद्यार्थी का प्रवेश।
1922 रूस की राजधानी मास्को के बोलशोई थियेटर से सोवियत संघ के निर्माण की औपचारिक रूप से घोषणा की गयी।
1935 इटली के लड़ाकू विमानों के हमले में अफ्रीकी देश इथोपिया स्थित स्वीडन की रेड क्रास इकाई ध्वस्त।
1938 वी.के.जोरिकिन ने इलेक्ट्रॉनिक टेलीविजन सिस्टम का पेटेंट कराया।
1943 स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस ने पोर्ट ब्लेयर में भारत की आजादी का झंडा लहराया।
1947 रोमानिया के नरेश के त्यागपत्र के साथ ही इस देश में राजशाही शासन व्यवस्था का अंत हुआ और लोकतंत्र की स्थापना हुई।
1949 भारत ने चीन को मान्यता दी।
1971 जाने माने वैज्ञानिक विक्रम साराभाई का निधन।
1975 अफ्रीकी देश मेडागास्कर में संविधान प्रभावी हुआ।
1975 हिन्दी के कवि और गजलकार दुष्यंत कुमार का निधन।
1979 पश्चिमी अफ्रीकी देश टोगो ने संविधान अंगीकार किया।
1990 हिन्दी के साहित्यकार व पत्रकार रघुवीर सहाय का निधन।
2000 जनरल उमर-इल-बशील दोबारा सूडान के राष्ट्रपति चुने गये।
2003 आस्ट्रेलिया ने भारत से मेलबर्न टेस्ट 9 विकेट से जीता।
2006 इराक के पूर्व कथित तानाशाह सद्दाम हुसैन को फाँसी दी गई।
2007 स्वर्गीय बेनजीर भुट्टो के पुत्र बिलावल को पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी का चेयरमैन चुना गया।
2009 भारत के प्रसिद्ध साहित्यकार, पत्रकार और ‘कादम्बिनी पत्रिका’ के सम्पादक राजेन्द्र अवस्थी का निधन।
2012 पाकिस्तान के बलूचिस्तान में हुए आत्मघाती हमले में 19 की मौत।

संबंधित पोस्ट

21 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

20 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

18 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

17 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओं की जानकारी

16 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

15 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

14 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

13 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

11 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

10 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

09 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी

08 जनवरी के इतिहास में आपको मिलेगी विश्व के घटनाओ की जानकारी