देशभर में 3862 परीक्षा केंद्रों पर 90 फीसदी छात्रों ने दी नीट टेस्ट

16 लाख छात्रों ने नीट प्रतियोगी परीक्षा का फॉर्म भरा था

नई दिल्ली| रविवार को देशभर में आयोजित की गई नीट परीक्षाओं में 85 प्रतिशत से अधिक अभ्यार्थियों ने हिस्सा लिया। रविवार दोपहर 2 बजे से दिल्ली के 111 केंद्रों समेत देशभर में 3862 परीक्षा केंद्रों पर नीट का टेस्ट लिया गया। नीट परीक्षा के लिए सबसे अधिक केंद्र महाराष्ट्र में बनाए गए थे। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी यानी एनटीए के मुताबिक इस वर्ष 16 लाख छात्रों ने नीट प्रतियोगी परीक्षा का फॉर्म भरा था।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, “राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी ने मुझे सूचित किया है कि रविवार को आयोजित की गई नीट परीक्षा में 85 से 90 प्रतिशत तक छात्र शामिल हुए हैं।”

गौरतलब है कि इससे पहले 1 से 6 सितंबर के बीच आयोजित की गई जेईई परीक्षाओं में भी लगभग 85 प्रतिशत अभ्यार्थी शामिल हुए थे।

केंद्रीय मंत्री निशंक ने नीट परीक्षा के सफल आयोजन और व्यवस्था के लिए सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों और राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी का धन्यवाद किया।

निशंक ने कहा, “नीट परीक्षा में छात्रों की भागीदारी युवाओं के तप, धैर्य और आत्मनिर्भर भारत को दर्शाती है।”

देशभर में रविवार दोपहर 2 बजे से नीट परीक्षा ली गई जो रविवार शाम समाप्त हुई। जेईई की ही भांति नीट परीक्षाओं के लिए भी सभी परीक्षा केंद्रों पर विशेष इंतजाम किए गए थे। यहां सोशल डिस्टेंसिंग का सबसे अधिक ध्यान रखा गया। दिल्ली में 111 केंद्रों पर नीट की परीक्षा आयोजित की गई हैं। वहीं पूरे देश भर में 3862 केंद्रों पर यह परीक्षा ली गई।

परीक्षा केंद्रों के मुख्य द्वार पर ही थर्मल स्कैनर से सभी अभ्यार्थियों का तापमान जांचा गया। एनटीए यानी राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी द्वारा तय नियम के मुताबिक एक परीक्षा केंद्र पर एक समय में 90 छात्रों ने ही प्रवेश किया। परीक्षा खत्म होने के बाद 24-24 के ग्रुप में छात्रों को बाहर लाया गया। ऐसा इसलिए किया गया ताकि परीक्षा केंद्रों पर छात्रों की भीड़ न लगे और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन हो सके। परीक्षा केंद्र पर छात्रों ने कोरोना लक्षण न होने का सेल्फ डिक्लेरेशन भी दिया।

दिल्ली में नीट परीक्षा के लिए जहां 111 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, वहीं उत्तर भारत में सबसे अधिक 320 परीक्षा केंद्र उत्तर प्रदेश में रहें। महाराष्ट्र में 615 परीक्षा केंद्र बनाए गए। 322 परीक्षा केंद्र केरल में थे।

एनटीए ने कहा, “कोरोना संक्रमण के प्रति सावधानी बरतते हुए प्रत्येक परीक्षा केंद्र को सैनिटाइज किया गया। परीक्षा केंद्र के फर्श, दीवारों, फर्नीचर, लिफ्ट, सीढ़ियां और रैम आदि सभी स्थानों को पूरी तरह से सैनिटाइज करने की व्यवस्था की गई थी।”

(आईएएनएस)