cbse दसवीं कक्षा के नतीजे घोषित, 91.46 फीसदी छात्र उत्तीर्ण

लड़कों के मुकाबले 3.17 प्रतिशत अधिक लड़कियां उत्तीर्ण

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई ने बुधवार को दसवीं कक्षा के लिए बोर्ड नतीजों की घोषणा कर दी। सीबीएसई द्वारा घोषित किए गए नतीजों में कुल 91.46 फीसदी छात्र 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं में उत्तीर्ण हुए हैं। पिछले वर्ष के मुकाबले यह संख्या 0.36 प्रतिशत अधिक है।

सीबीएसई द्वारा घोषित किए गए इन नतीजों में कुल 93.31 प्रतिशत छात्राएं उत्तीर्ण हुई है। पास होने वाले लड़कों का प्रतिशत 90.14 है। लड़कों के मुकाबले 3.17 प्रतिशत अधिक लड़कियां दसवीं की परीक्षा में उत्तीर्ण हुई है। 78.95 प्रतिशत ट्रांसजेंडर छात्र भी दसवीं की कक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं।

रांची के श्यामली स्थित जवाहर विद्या मंदिर (जेबीएम) में पढ़ने वाली अनन्या सिंह ने गणित में 100, सामाजिक विज्ञान में 100, अंग्रजी तथा हिंदी में 97-97 तथा कंप्यूटर में 98 फीसदी अंक हासिल किए हैं।

सफलता पर अनन्या ने  कहा, “मैं इस सफलता का श्रेय अपनी माता अंजना सिंह और पिता धमेंद्र कुमार सिंह, व गुरुजनों को देती हूं। मैं रोजाना 12 घंटे पढ़ाई करती थी। मैं डॉक्टर बनकर समाज की सेवा करना चाहती हूं।

दसवीं की कक्षा में परीक्षाओं में पहला स्थान तिरुवनंतपुरम को मिला है। दूसरे स्थान पर चेन्नई, तीसरे पर बेंगलुरु और चौथे पर पुणे हैं हैं। दिल्ली के इस बार 2 जोन बनाए गए हैं। दिल्ली वेस्ट में 85.96 प्रतिशत छात्र दसवीं की परीक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं। वही दिल्ली ईस्ट में 85.79 प्रतिशत छात्रों ने 10वीं की बोर्ड परीक्षा पास की है।

10वीं की बोर्ड परीक्षाओं में दिल्ली का स्थान 14 और 15 है। हालांकि पिछले वर्ष के मुकाबले दसवीं कक्षा के बोर्ड नतीजों में लगभग 5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। बीते वर्ष 2019 में दिल्ली रीजन के अंदर 80.97 प्रतिशत छात्रों ने 10वीं की बोर्ड परीक्षा में कामयाबी हासिल की थी।

इस साल दसवीं के 18,73,015 छात्रों ने परीक्षा दी थी। इनमें से 17,13,121 छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। छात्र अपने स्कूल व डिजिलॉकर से अपनी मार्कशीट प्राप्त कर सकेंगे।

(आईएएनएस)