जेजीयू क्यूएस यंग यूनिवर्सिटी रैंकिंग में दुनिया के शीर्ष 150 विश्वविद्यालयों में शामिल

नई दिल्ली। ओ. पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी (जेजीयू) को क्वैक्वेरेली साइमंड्स (क्यूएस) द्वारा दुनिया के शीर्ष 101-150 यंग यूनिवर्सिटी में स्थान दिया गया है। जेजीयू क्यूएस यंग यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 में जगह पाने वाला भारत का पहला और एकमात्र निजी विश्वविद्यालय है, जो पूरी तरह से सामाजिक विज्ञान, कला और मानविकी पर ध्यान केंद्रित करता है।

इस कामयाबी पर ओ. पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी के चांसलर नवीन जिंदल ने बुधवार को एक बयान में कहा, “दुनिया के शीर्ष 150 यंग यूनिवर्सिटी में जेजीयू को मान्यता मिलना शानदार उपलब्धि है।”

उन्होंने कहा, “यह केवल इस बिंदु को रेखांकित करता है कि उम्र और समय की कोई बंदिशें नहीं होती है, बशर्ते आपके पास एक विश्व स्तरीय विश्वविद्यालय बनाने की इच्छा, प्रतिबद्धता, कड़ी मेहनत और दृढ़ता हो।”

इन रैंकिंग में जेजीयू के अलावा जो अन्य 3 भारतीय विश्वविद्यालय दुनिया में शीर्ष 150 में शामिल हैं वे हैं – भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), गुवाहाटी, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), हैदराबाद और हैदराबाद विश्वविद्यालय।

जेजीयू द्वारा क्यूएस वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 के अनुसार भारत के नंबर एक निजी विश्वविद्यालय घोषित किए जाने की खबर सामने आने के बाद ओ. पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर सी. राज कुमार ने कहा, “यह वास्तव में जेजीयू के लिए गर्व का एक और क्षण है।

दुनिया के शीर्ष 150 विश्वविद्यालयों में स्थान पाने वाले 50 साल से कम की उम्र वाले विश्वविद्यालयों में 11 साल पुराने विश्वविद्यालय को शामिल किया जाना हमारे लिए एक महत्वपूर्ण मान्यता है। इन रैंकिंग ने एक विश्वविद्यालय के रूप में हर चीज में उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के लिए हमारी लगातार संस्थागत प्रतिबद्धता को मजबूत किया है।”

क्यूएस वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग कई वर्ष पूर्व स्थापित विश्वविद्यालयों के अलावा युवा विश्वविद्यालयों के एक विशाल परिदृश्य का प्रतिनिधित्व करती है।

इस महीने की शुरुआत में, जेजीयू को क्यूएस वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 में दुनिया के शीर्ष 651-700 विश्वविद्यालयों में मान्यता दी गई थी।

(आईएएनएस)