सफाई कामग़ारों को स्वालम्बी बनाने दिए जाएंगे लोन

रायपुर। सफाई कामगारों को स्वालम्बी बनाने अब आर्थिक मदद दी जाएगी। जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति द्वारा विभिन्न योजनाओं के तहत ये आर्थिक सहायता उन्हें मिलेगी। इसके तहत ऑटो पैसेंजर व्हीकल ईकाई लागत 5.60 लाख रूपए, ऑटो गुड्स कैरियर ईकाई लागत 6.38 लाख रूपए, स्कीम अप टू योजना ईकाई लागत एक लाख रूपए, महिला अधिकारिता ईकाई लागत 75 हजार रूपए, महिला समृद्धि योजना ईकाई लागत 50 हजार रूपए तथा ई-रिक्शा योजना ईकाई लागत 1.45 लाख रूपए का लोन दिया जाएगा। इस योजना का लाभ उठाने आवेदक 31 जुलाई तक अपना आवेदन कलेक्टोरेट परिसर स्थित जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति रायपुर कक्ष क्रमांक-34 में जमा कर सकते है।
इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए मुख्य कार्यपालन अधिकारी एस. टोप्पो ने बताया कि सफाई कामगारों से सम्बन्धित युवक-युवतियाँ जिनकी उम्र 18 से 50 वर्ष के बीच हो इन योजनाओं का लाभ उठा सकते है। आवेदन के साथ सफाई कामगार होने का प्रमाण पत्र नगर पालिक निगम, पार्षद, ठेकेदार, शासकीय या अर्द्धशासकीय संस्था के प्रमुख एवं अन्य जहां कार्य करते है, मान्य होगा। इसके साथ मूल निवास, आय प्रमाण-पत्र (ग्रामीण क्षेत्र में 98 हजार रूपए एवं शहरी क्षेत्र में एक लाख 20 हजार) एवं एक पासपोर्ट फोटो आवश्यक है। ऑटो पैसेंजर एवं मालवाहक वाहन के लिए वैध ड्राइविंग लाइसेंस अनिवार्य है।

6 फीसदी देना होगा ब्याज़
टोप्पो ने बताया कि ऋण स्वीकृत किए जाने की स्थिति में आवेदक को ऋण के बराबर जमानत राशि जमा करना होगा। ऋण 5 वर्षो में 6 प्रतिशत वार्षिक ब्याज की दर से प्रतिमाह किश्त के रूप में जमा कराया जाएगा। सफाई कामगारों की सुविधा के लिए शिविर लगाकर ऋण प्रकरण तैयार किए जाएंगे। ऐसे सफाई कामगार जो पहले शासकीय योजनाओं का लाभ ले चुके है उन्हें इन योजनाओं का लाभ नहीं मिलेगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.