जेईई परीक्षा पर अपने ही सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के सवाल पर निशंक का जवाब

कहा, 18 लाख नही, 8.58 लाख छात्रों ने फॉर्म भरे थे

नई दिल्ली। भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने जेईई मेन की परीक्षा में छात्रों की संख्या पर प्रश्न उठाए हैं। स्वामी को इसका जवाब केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉक्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने दिया। दरअसल, स्वामी ने कहा कि जेईई की परीक्षा के लिए 18 लाख छात्रों ने फॉर्म भरे हैं। जवाब में निशंक ने कहा कि जेईई परीक्षाओं के लिए 8.58 लाख छात्रों ने फॉर्म भरे थे।

स्वामी ने एक ट्वीट करते हुए लिखा, जेईई के लिए 18 लाख छात्रों ने पास डाउनलोड किया जिनमें से पिछले सप्ताह हुई परीक्षा में सिर्फ 8 लाख ही परीक्षा देने पहुंचे। ये उस देश के लिए अपमान है जो विद्या और ज्ञान का विस्तार करता है।’

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट करके सुब्रमण्यम स्वामी को जवाब दिया। उन्होंने ट्विटर पर स्वामी को टैग करते हुए लिखा, ”स्वामी जी, मैं जेईई परीक्षा के संबंध में कुछ तथ्य आपके समक्ष रखना चाहूंगा। जेईई के लिए 8.58 लाख छात्रों ने आवेदन किया है न कि 18 लाख, जैसा कि आपने ट्वीट किया था।”

निशंक ने कहा, जेईई मेन परीक्षा के लिए 8.58 लाख छात्रों ने आवेदन किया था और इनमें से 6.35 लाख अभ्यर्थियों ने जेईई की परीक्षा दी है।

निशंक ने कहा आयोजित की गई इन परीक्षाओं के दौरान केंद्र और संबंधित राज्य सरकारों ने छात्रों को हर संभव सहायता का आश्वासन दिया, और इसके लिए मैं सभी राज्य सरकारों को भी बधाई देता हूं।

गौरतलब है कि जेईई मेन परीक्षा 1-6 सितंबर तक ली गई। जेईई मेन के लिए 8.58 लाख छात्रों ने फॉर्म भरा था। 6.35 लाख छात्रों ने जेईई की परीक्षा दी है। जो छात्र जेईई मेन की परीक्षाओं में शामिल हुए हैं उन्हें नतीजों के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। जेईई मेन परीक्षाओं का रिजल्ट 10 सितंबर को घोषित किया जाएगा। रिजल्ट घोषित किए जाने के बाद जेईई एडवांस की परीक्षा ली जाएगी।

जेईई मेन परीक्षा का नतीजा घोषित किए जाने के बाद 11 सितंबर से 17 सितंबर तक छात्र जेईई एडवांस के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे। जेईई एडवांस की परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड 20 सितंबर को जारी होगा। जेईई एडवांस में जेईई मेन के नतीजों के आधार पर 2.5 लाख छात्रों को परीक्षा देने का मौका मिलेगा। जेईई एडवांस की परीक्षा 27 सितंबर को होगी।

(आईएएनएस)