एनआईटी गोवा की छात्रा प्रीति, ऑप्टिक्स क्षेत्र की शीर्ष 25 महिला वैज्ञानिकों में शामिल

प्रीति जगदेव इस वर्ष सूची में शामिल होने वाली वह एकमात्र भारतीय हैं

नई दिल्ली| एनआईटी गोवा की रिसर्च स्कॉलर प्रीति जगदेव, इंटरनेशनल सोसायटी फॉर ऑप्टिक्स एंड फोटोनिक्स (यूएसए) द्वारा वर्ष 2021 के लिए दुनिया भर में ऑप्टिक्स के क्षेत्र में सूचीबद्ध 25 महिला वैज्ञानिकों में शामिल की गई हैं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, “वह इस वर्ष सूची में शामिल होने वाली वह एकमात्र भारतीय हैं और यह संस्थान और देश के लिए भी गौरव का क्षण हैं।”

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान,(एनआईटी) गोवा का छठा दीक्षांत समारोह सोमवार को आयोजित किया गया। इसी दौरान निशंक ने यह जानकारी दी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

एनआईटी गोवा देश के प्रमुख संस्थानों में से एक है। पर्यटन हब के रूप में लोकप्रिय गोवा अब अपनी उच्च शिक्षा के लिए भी जाना जाने लगा है। एनआईटी गोवा सभी एनआईटी संस्थानों के बीच 18वें स्थान पर तथा नए एनआईटी संस्थानों के बीच दूसरे स्थान पर है।New Delhi: Union Education Minister Ramesh Pokhriyal 'Nishank' issues SOP/Guidelines for reopening of schools via video conferencing in New Delhi on Oct 05, 2020. (Photo: IANS/PIB)संस्थान के छठवें दीक्षांत समारोह में छह उम्मीदवारों को पीएचडी, 36 उम्मीदवारों को एमटेक और 69 उम्मीदवारों को बीटेक की डिग्री से सम्मानित किया गया।

निशंक ने उपस्थित छात्र-छात्राओं का आह्वान करते हुए कहा, “हम भारत को दुनिया में महाशक्ति बनाने के लिए आपके योगदान की अपेक्षा करते हैं। इंजीनियरों के रूप में, आपको लोक कल्याण के मामलों में उच्च आकांक्षाओं को विकसित करना होगा।”

डॉ. निशंक ने एनआईटी गोवा द्वारा कोरोना काल में किए गए कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि, “कोविड 19 के कठिन समय के दौर में एनआईटी गोवा ने पूरे देश भर में, किसी भी एनआईटी की प्रवेश प्रक्रिया में, राज्य के छात्रों की मदद करने हेतु काउंटर स्थापित किए। फार्मागु़डी में अपने अस्थायी परिसर में संस्थान के छात्रावास का उपयोग भी कोविड देखभाल केंद्र के रूप में किया गया, ताकि जरूरतमंद लोगों की मदद की जा सके।”

अपनी संस्थागत सामाजिक जिम्मेदारियों को समझते हुए एनआईटी गोवा, केंद्र सरकार के कार्यक्रम के तहत, पहले से ही राज्य के तीन गांवों को गोद ले चुका है, जहां लोगों के जीवन स्तर तथा रहने की स्थिति में सुधार करने हेतु संस्थान पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

साथ ही गोवा में स्कूल स्तर पर गणित और विज्ञान के विषयों में मदद करने के लिए संस्थान के प्रोफेसरों ने गोवा में सैकड़ों शिक्षकों को प्रशिक्षित किया है। इसके अलावा स्कूली छात्रों ने गणित और विज्ञान विषयों में अपनी समझ को बेहतर बनाने के लिए एनआईटी गोवा के प्रोफेसरों से प्रशिक्षण भी लिया है।

–आईएएनएस