Video-महासमुंदः कभी सूचना देने लगाया गया लाउडस्पीकर अब पढ़ा रहा

ग्रीन पंचायत सपोस-गबोद में इस नवाचार से बच्चे भी उत्साहित

रजिंदर खनूजा, पिथौरा। गांववालों को सूचनाएं देने और हर सुबह-शाम राष्ट्रगान के लिए लगाया गया लाउडस्पीकर इन दिनों बच्चों की पढ़ाई का साधन बन गया है। इस साधन ने मोबाइल फोन -इंटरनेट की अनिवार्यता खत्म कर दी है।  बच्चे अपने घरों के आगे, पेड़ के नीचे, दालान, परछी, बरामदे में बैठकर पढ़ाई कर रहे हैं। पंचायत भवन के कंट्रोल रुम में बैठा शिक्षक इन बच्चों को निर्देश देता है। बच्चे उसके अनुरुप घर पर ही पढ़ रहे हैं। सभी बच्चे समान रुप से एक ही समय उस्ताहित होकर पढ़ रहे हैं।

महासमुंद जिले के पिथौरा विकासखण्ड का सबसे चर्चित ग्राम पंचायत सपोस अपने इस नवाचार से एक बार फिर चर्चा में हैं। बच्चे अपने घरों के बरामदे में बैठ कर माता पिता की निगरानी में ही शिक्षा ग्रहण कर रहे है।

ज्ञात हो कि ग्रीन सपोस के नाम से जानी जाने वाली ग्राम पंचायत तब चर्चा में आई थी जब पंचायत क्षेत्र में सभी ओर ध्वनि विस्तारक यंत्र (लाऊड स्पीकर) लगा कर प्रतिदिन सुबह शाम ग्राम वासी सम्मान राष्ट्र गान करने लगे थे।अब यही यंत्र राष्ट्रगान के साथ बच्चों की पढ़ाई में भी उपयोग होने लगे है।

आनलाइन पढ़ाई के लिए मोबाइल और इंटरनेट जरूरी है।इसके साथ ही सिग्नल की अनिवार्यता भी। कई गांव ऐसे हैं जहां टावर नहीं होने और कमजोर सिग्नल नेटवर्क के कारण आनलाइन पढ़ाई संभव नहीं है। अभिभावकों को इसके लिए खर्च भी करना पड़ रहा है। इन सबसे निजात दिला रहा है लाउडस्पीकर से पढ़ाई।

ग्राम पंचायत सपोस के सरपंच किशोर बघेल कहते हैं कि एक ओर देश कोरोना कोविड 19 वैश्विक महामारी समस्या से ग्रसित है।जिसके कारण अर्थब्यवस्था ,स्वास्थ और शिक्षा पर इसका विपरीत असर भी पड़ रहा है।इसको पटरी पर लाने के लिए राज्य सरकारें अपने स्तर पर प्रयास भी कर रही है।हमने भी इस दिशा में कुछ नया सोचा। वर्तमान में स्कूल नहीं खुल पाने के कारण बच्चों की शिक्षा पर काफी असर पड़ रहा  है। लिहाजा हमने पने पास मौजूद संसाधन का सहारा लिया।गांव की गली-गली में सूचना देने के लिए लगाए गए लाउडस्पीकर अब पढ़ाई के काम भी आ रहा है।

वे कहते हैं जनप्रतिनिधियों की पहल पर विकासखण्ड श्रोत समन्यवयक एफ.ए.नन्द ,सरपंच प्रतिनिधि व शाला प्रबंधन समिति के अध्यक्ष किशोर चंद बघेल ,संकुल समन्वयक  खिरेश्वर प्रधान एंव शिक्षकों की उपस्थिति में इस पहल की शुरुवात की गई।

ग्रीन पंचायत सपोस गबोद में लगे लाउडस्पीकर  से शिक्षकों के द्वारा बच्चों को अपने अपने सुविधानुसार मास्क के साथ सोशल डिस्टेंस के नियमो को पालन करवाते  हुए पढ़ाई कराते हैं।

विकासखण्ड श्रोत समन्वयक श्री एफ ए नन्द ने सभी शिक्षकों ,पलकों व ग्रामीण जनों से अपील करते हुए कहा है कि इस पहल को सफल बनाने में अपना अमूल्य योगदान दें,ताकि बच्चों का बौद्धिक व शैक्षणिक स्तर बना रहे।

इस पहल में गबोद विद्यालय के प्रधान पाठक श्री रविशंकर बंजारा, तरुवर कोसरिया ,नरेंद्र बोरे   पुरुषोत्तम धृतलहरे, अश्विनी विशाल ,धुबई साहू ,भागीरथी यादव ,संतोष सिंह ठाकुर, डोलामणि यादव ,दामिनी अग्रवाल,किशोर यादव,टीकम डड़सेना संजय अग्रवाल ,चंद्रशेखर,बिंदु ठाकुर ,प्रेम विशाल , आदि का  योगदान रहा है।