उच्च आय, शिक्षित वर्गों के लोग शौक पूरा करने में ज्यादा समय निकाल रहे

लॉकडाउन के दौरान देशव्यापी सर्वे से हुआ खुलासा

नई दिल्ली। उच्च आय वर्ग और उच्च शिक्षा वाले करीब 50 प्रतिशत लोग कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान अपने शौक को पूरा करने के लिए ज्यादा समय निकालने लगे हैं। आईएएनएस सी-वोटर इकोनॉमी बैट्री सर्वे से यह जानकारी मिली। देशव्यापी सर्वे से यह पता चला कि उच्च शिक्षा समूह वाले 55.7 प्रतिशत और उच्च आय समूह वाले 49.6 प्रतिशत लोग लॉकडाउन के दौरान अपने शौक को पूरा करने के लिए ज्यादा समय खर्च करते हैं।

लैंगिकता की बात करें तो, 25 वर्ष से कम उम्र के 42 प्रतिशत लोग लॉकडाउन के दौरान अपने शौक के लिए ज्यादा समय निकालने लगे हैं। वहीं लॉकडाउन लागू होने के बाद 25 से 45 आयुवर्ग के 39 प्रतिशत लोग यह काम करने लगे हैं।

वहीं अगर शैक्षणिक योग्यता की बात करें तो, कम पढ़े लिखे 30 प्रतिशत लोग अपने शौक को पूरा करने के लिए समय निकाल रहे हैं, जबकि मध्य शैक्षणिक समूह के 45 प्रतिशत लोग ऐसा कर रहे हैं।

–आईएएनएस

संबंधित पोस्ट

लॉकडाउन के बाद शूटिंग करने के लिए तैयार है बॉलीवुड

बिहार : राजद शीर्ष नेता सहित 92 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

लॉकडाउन से पस्त पान विक्रेता संघ कलेक्टर से मिला, मांगी इजाजत

कोरोना महामारी से प्रभावित रणवीर सिंह ने बताए अपने अनुभव

बड़ी तादाद में प्रवासी मजदूरों की वापसी बिहार सरकार के लिए चुनौती

लॉकडाउन में भटक रहे मासूम को ओडिशा कैडर आईपीएस का सहारा

संकट की यह घड़ी हमें एकजुट रहना सिखा रही कोरोना : आशा भोंसले

लॉकडाउन से कोई नतीजा नहीं, बल्कि जनता को हुआ भारी नुकसान : राहुल गांधी

उप्र : बिहार से दुल्हन लेकर 60 दिनों बाद घर लौटी ‘बारात’, सभी क्वारंटाइन

मप्र : सड़क हादसे में प्रवासी मजदूर के दो बच्चों समेत 4 की मौत

भोपाल बिलासपुर श्रमिक स्पेशल ट्रेन में बालिका शिशु ने जन्म लिया

महाराष्ट्र : महामारी के और फैलने के खतरे के मद्देनजर लॉकडाउन 31 मई तक बढ़ा