श्याम बेनेगल और मनोज वर्मा को मिला “किशोर साहू सम्मान”


रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार की तरफ से फिल्म के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किए जाने पर घोषित किशोर साहू अलंकरण सम्मान समारोह राजनांदगांव में आयोजित किया गया। इस समारोह में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने मुंबई के प्रसिद्ध फिल्म निदेशक श्याम बेनेगल को किशोर साहू स्मृति राष्ट्रीय अलंकरण से सम्मानित किया। डॉ. सिंह ने राजधानी रायपुर निवासी छत्तीसगढ़ी फिल्मों के निदेशक श्री मनोज वर्मा को किशोर साहू स्मृति राज्य सम्मान से नवाजा। समारोह में डॉ. रमन सिंह ने कहा – छत्तीसगढ़ की धरती से और विशेष रूप से राजनांदगांव के साथ स्वर्गीय श्री किशोर साहू का गहरा भावनात्मक लगाव था। स्वर्गीय श्री साहू ने अपनी आत्मकथा में राजनांदगांव को सुन्दर, सौम्य और संस्कारधानी शहर बताया है। डॉ. रमन ने कहा कि देश के तीन सुप्रसिद्ध साहित्यकार स्वर्गीय गजानन माधव मुक्तिबोध, पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी और डॉ. बलदेव प्रसाद मिश्र को याद करते हुए कहा कि तीनों महान साहित्यिक विभूतियों ने राजनांदगांव को अपनी कर्मभूमि बनाकर देश और दुनिया में छत्तीसगढ़ का नाम रौशन किया। उल्लेखनीय है कि स्वर्गीय श्री किशोर साहू की याद में दोनों सम्मानों की स्थापना पिछले वर्ष प्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग द्वारा की गई है। फिल्म निर्माता और निर्देशक स्वर्गीय श्री किशोर साहू छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव निवासी थे। उनकी स्मृति में राज्य शासन द्वारा स्थापित दोनों सम्मानों की शुरूआत आज मुख्यमंत्री के हाथों की गई।

साहू ने दी हिन्दी सिनेमा को एक नई पहचान-बेनेगल
किशोर साहू सम्मान से सम्मानित हुए श्याम बेनेगल ने कहा कि लोक-संगीत, लोक-गीत और लोक-कलाओं की दृष्टि से छत्तीसगढ़ काफी समृद्ध है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ से जुड़ी अपनी लगभग 40 वर्ष पुरानी स्मृतियों को साझा करते हुए कहा कि प्रसिद्ध वैज्ञानिक प्रोफेसर यशपाल ने साक्षरता अभियान के लिए एक प्रोजेक्ट बनाया था, जिसके तहत मैं फिल्मांकन के लिए छत्तीसगढ़ आया था। बेनेगल ने कहा – मुझे अपनी युवा अवस्था में फिल्म निर्माण के क्षेत्र में स्वर्गीय श्री किशोर साहू के कार्यों को नजदीक से देखने का मौका मिला था। स्वर्गीय श्री साहू ने हिन्दी सिनेमा को एक नई पहचान दिलाई।