ख़ुफ़िया तरीके से शुरू हुई, कांग्रेस की “विकास खोजो यात्रा”


राजनांदगांव / रायपुर। 13 मई यानी कल से शुरू होने वाली कांग्रेस की विकास खोजो यात्रा का आगाज़ पीसीसी चीफ भूपेश बघेल और प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने आज से ही कर दिया है। पुनिया की अगुवानी में बघेल समेत कांग्रेस के तमाम नेता आज तड़के सुबह भिलाई की तरफ रवाना हुए। तब तलक पुनिया और बघेल के आलावा किसी भी नेता को इस बात की सुचना नहीं थी के आखिर जाना कहा है और जा क्यों रहे है ? पुनिया के निर्देश पर पीसीसी संचार विभाग और कार्यालय महामंत्री की तरफ मीडिया और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को इस मैसेज देर रात भेजा गया था। मैसेज़ में लिखा गया
था ” सुबह 5.30 बजे सर्किट हाउस रायपुर से साथ चलेंगें। अंतर्निहित कारणों से गंतव्य की जानकारी नहीं दी जा रही है लेकिन इसकी दूरी 30 से 90 किमी ही होगी और हम सब दोपहर 2-3 बजे के पहले वापस लौट आयेंगें।” इसके बाद आज सुबह भिलाई पार करने के बाद उन्हें राजनांदगांव जाने की बात का खुलासा प्रभारी पुनिया और प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने किया। बघेल और पुनिया समेत कांग्रेसी “विकास खोजो यात्रा” की शुरुवात करते हुए मुख्यमंत्री रमन सिंह के गोद लिये गांव सुरगी और सांसद अभिषेक सिंह के गोद लिए गांव भोथीपार खुर्द पहुंचे। जहां उन्होंने उन गाँवों की मूलभूत सुविधाओं को लेकर ग्रामीणों से चर्चा की।

पहुंचने के बाद किया ट्वीटपीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने राजनांगांव पहुंचने के बाद ट्वीटर पर इस बात की जानकारी साझा की। बघेल ने ट्वीट करते हुए लिखा ” मित्रों…विकास खोजो यात्रा की शुरुआत हो चुकी है। आज मैं और @plpunia जी रमन सिंह एवं उनके सांसद पुत्र के आदर्श गांवों में हम विकास का जायज़ा ले रहे हैं। समस्याओं का अंबार दिख रहा है। #खोजो_विकास”

इस तरह की मिली शिकायतें

ग्रमीणों ने विकास खोजने पहुंचे कांग्रेसियों को कई शिकायतें बताई। इसमें चन्दा कर तालाब गहरीकरण, उज्ज्वला योजना का सिलेंडर महंगे होने की शिकायत, पूरे गांव में मात्र चार हैंडपम्प, उसका पानी भी पिने लायक नहीं होना, पानी की कमी, 2015 का धान बोनस नही मिला, 2018 के बोनस का भी अब तक पता नहीं, जैसे तमाम शिकायतों का पुलिंदा कांग्रेसी दल को ग्रामीणों ने सौपा।