कांग्रेस पर रमन का वार ज़ारी, कहा-रोड शो के लिए भी नहीं है नेता


कोंडागांव। विकासयात्रा के तीसरे दिन पत्रकारों से चर्चा के दौरान सूबा-ए-सदर डॉ रमन सिंह ने कांग्रेस पर हमला ज़ारी रखा। मुखिया ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की स्थिति कहाँ पहुँच गई है ? इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि छत्तीसगढ़ में रोड शो के लिए कांग्रेस को नेता नहीं मिल रहे हैं। रोड शो के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को रायपुर बुलाने की नौबत आ गई है। ना तो पीएल पुनिया ना ही भुपेश बघेल को जनता स्वीकार कर रही है। हालात यह हो गई है कि कांग्रेसी रोड शो भी अपने पैरों पर खड़े होकर नहीं कर पा रहे। मुख्यमंत्री ने विकास यात्रा को लेकर कांग्रेस के विरोध पर कहा कि- दरअसल यह विरोध नहीं हैं, यह कांग्रेस की हताशा है. हकीकत यह है कि कांग्रेस के नेता फेसबुक, टवीटर जैसे सोशल मीडिया से बाहर ही नहीं निकल पा रहे। कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष के बयान पर डॉ. रमन सिंह ने कहा कि- उइके के बयान पर कुछ कहना ठीक नहीं, जनता इस बयान को पड़ेगी तो खुद समझ जाएगी। वहीं कांग्रेस के विधायक कवासी लखमा के ताड़मेटला, जगरगुंडा में विकास यात्रा पर जाने की चुनौती पर सीएम रमन ने कहा कि बस्तर में मेरी विकास यात्रा खत्म नहीं हुई है। अभी कई चरण में मैं बार बार बस्तर आता रहूंगा। कवासी को यदि लगता है मुझे बस्तर में कहीं जाना है, तो इसकी सूची बनाकर दे दें। उन्होंने कहा कि जैसे जैसे विकास यात्रा आगे बढ़ रही है. वैसे-वैसे सबकी स्थिति बिगड़ रही है।

गादीरास की सभा अभूतपूर्व-रमन
मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि सुकमा के गादीरास में जिस तरह से सभा हुई, वैसी अभूतपूर्व सभा मैंने पहले नहीं देखी। उन्होंने कहा कि कोंडागांव में रोड शो देखकर लगा कि कभी दीवाली मनाई जा रही है, तो कभी कोई और पर्व। उन्होंने कहा कि मुझे लगा कि कोंडागांव को नया जिला बनाए जाने के बाद अब तक उसकी प्रतिक्रिया लोगों के दिलों में बाकी है, कोई छलावा नहीं है। सीएम ने कहा कि आदिवासी कल्याण के क्षेत्र में अभूतपूर्व काम हुए हैं। यहां कुपोषण में गिरावट आई है। उन्होंने कहा कि लोगों की आंखों में चमक दिखती है, उत्साह दिखता है, समाज के सभी वर्गों ने इस यात्रा को अपनी यात्रा माना है।