सुधर जाईए ! राजधानी के नालो से निकल रहा 40 ट्रक कचरा

निगमायुक्त शिवअनंत तेल खुद कर रहे है सफाई की मॉनेटरिंग

रायपुर। शहर की सफाई की ज़िम्मेदारी जितनी नगर निगम रायपुर की है, उसमे अगर हम सभी की थोड़ी बहोत ही भागीदारी मिल जाए तो राजधानी की सूरत बदल जाएगी। सड़कों पर जहां-तहाँ कचरे फेकना, नालियों में घरों का पूरा कूड़ाकरकट डालना आख़िर राजधानी की पढ़ी-लिखी जनता कब बंद करेगी। इससे भी ज़्यादा भयावह स्तिथि रायपुर के बाज़ारी इलाकों में जहाँ जहां दिनभर का कचरा या तो सीधे सड़कों में फेका जाता है, या फिर नालियों में डालकर अपना पल्ला झाड़ लेते है।

शिवअनंत तायल                              आलम ये है राजधानी के नालों से 40 ट्रक तक कचरे नगर निगम ढो रही है। जिससे आने वाले बारिश के मौसम में हमारा शहर न डूबे। गौरतलब है की बारिश से पहले नगर निगम राजधानी में युद्धस्तर पर बड़े नालों की तलहटी तक की सफाई करा रहा है। गुरुवार को अकेले देवेन्द्र नगर के नारायणा अस्पताल के नज़दीक के नाले से 40 ट्रक कचरा निकाला गया। बड़े नालों की सफाई को लेकर निगमायुक्त शिव अनन्त तायल ने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दे रखा है कि सफाई को लेकर किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पिछले पखवाड़े भर से निगम का स्वास्थ्य अमला बड़े नालों की सफाई में भिड़ा हुआ है। जोन क्रमांक 1 के बड़े नालों की पोकलेन से सफाई के बाद पोकलेन को जोन क्रमांक 2 के नालों की सफाई में लगाया गया है।

कहीं 40 तो कहीं 15 ट्रक निकला कचरा
नगर निगम जोन क्रमांक 2 के जोन कमिश्नर सन्तोष पांडे ने बताया कि देवेन्द्र नगर में नारायणा हॉस्पिटल के बगल से आज 40 ट्रक कचरा बाहर निकाला गया। रमण मन्दिर वार्ड में सत्कार नाला की भी सफाई की गई। यहां से 15 ट्रक कचरा निकाला गया। निगम के अन्य जोनों में नालों की सफाई युद्ध स्तर पर की जा रही है।