घर लौटा विराट…सीएम भूपेश बघेल ने दी बधाई

5 दिनों की पड़ताल के बाद लौटा बेटा विराट

बिलासपुर / रायपुर। बिलासपुर के विराट अपहरण कांड में बिलासपुर पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। 5 दिन की लंबी चौड़ी तहकीकात और हजारों फोन कॉल ट्रेस करने के बाद आखिरकार पुलिस ने किडनैपर्स को धर दबोचा है। और विराट को सकुशल उनके चंगुल से छूड़ाकर आज अलसुबह 5:30 बजे उसके घर छोड़ा है।

घर लौटा विराट                             जैसे ही सुबह 5:30 बजे घर के दरवाजे पर पुलिस ने दस्तक दी, विराट के परिजनों ने दौड़कर दरवाजा खोला और अपने सपूत को सही सलामत देख गले से लगाकर फूट फूट कर रोने लगे। जिसके बाद पूरे परिवार ने विराट को घर छोड़ने पहुंचे पुलिस स्टाफ को एक-एक कर ह्रदय से धन्यवाद ज्ञापित किया। इसके साथ ही इन सभी पुलिसकर्मियों का एहसान भी जताया। इधर पुलिस के आला अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक विराट की किडनैपिंग पूरी प्लानिंग के साथ फिरौती के लिए की गई थी। विराट के पिता विवेक सराफ जो पेशे से बर्तन कारोबारी हैं, उनसे किडनैपर्स मोटी रकम वसूलना चाहते थे। हालाँकि इस मामलें में पुलिस और भी कई तथ्यों के खुलासे की बात कह रहे है। पुलिस ने इस मामले में हजारों कॉल डिटेल, सैकड़ों सीसीटीवी कैमरों से कई घंटे के फुटेज और चौक चौराहों में छानबीन के बाद विराट के किडनैपर्स तक पहुंच पाई है। बीते 5 दिनों तक बिलासपुर पुलिस की मैराथन जांच और कड़ी दर कड़ी पूरे मामले को जोड़ने के बाद यह खुलासा हो पाया है।

सीएम ने दी मुस्तैदी के लिए बधाई
बिलासपुर में हुए विराट के अपहरण के बाद से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी काफी चिंतित थे। उन्होंने लगातार विराट के परिवार की जानकारी जिला प्रशासन से ली और इस पूरे मामले में जांच पड़ताल की भी अपडेट भूपेश लगातार लेते रहे। आज जब सुबह विराट अपने परिवार के पास लौटा तो भूपेश ने राहत की सांस लेते हुए इस बात को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया। भूपेश ने ट्वीटर पर लिखा कि ” विराट पांच दिनों बाद सुरक्षित घर लौट आया है। इन पांच दिनों मैं भी परिजनों की चिंता में शामिल रहा। मैं छत्तीसगढ़ की जनता को विश्वास दिलाता हूं कि क़ानून व्यवस्था के साथ कोई समझौता नहीं होगा और हमारी सरकार हर किसी के साथ खड़ी रहेगी। मुस्तैदी के लिए पुलिस विभाग को बधाई। “