आईजी से बोले डीजीपी- पेंडिंग फाइलों के बंच करे कम

पुलिस मुख्यालय में डीजीपी डीएम अवस्थी ने ली समीक्षा बैठक

रायपुर। छत्तीसगढ़ पुलिस के मुखिया डीजीपी डीएम अवस्थी ने पुलिस मुख्यालय में पाँचों रेंज आईजी समेत तमाम वरिष्ठ पुलिस अधिकारीयों की एक समीक्षा बैठक ली है। इस समीक्षा बैठक में डीजीपी ने सभी रेंज आईजी को थानों में पड़े पेंडिंग फाइलों के बंचों (ढ़ेर) को कम करने को कहा है। डीजीपी अवस्थी ने कहा कि एक्शन प्लान बनाकर पेंडेंसी को कम करने की दिशा में काम करने की जरुरत है।

पुलिस मुख्यालय                            इसके अलावा उन्होंने बैठक में लंबित मर्ग, लंबित 173 (8) के प्रकरण, लंबित गुम बच्चों के प्रकरण, लंबित शिकायत पर भी जिलेवार स्थितियों की समीक्षा की है। उन्होंने दुर्घटना से होने वाली मृत्यु पर नियंत्रण, सम्पत्ति संबंधी अपराधों के निराकरण, वारंट तामीली, गुण्डा तत्वों की निगरानी, आपराधिक प्रकरणों के निराकरण की भी समीक्षा की है। साथ ही उन्होंने विभाग में दिए जाने वाले ईनाम, अनियमित वित्तीय कम्पनियों की धन वापसी सहित कानून एवं व्यवस्था से संबंधित विभिन्न विषयों की विस्तार से समीक्षा की है।

नई तकनीक अपनाने पर दिया जोर
पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने विभाग की स्टूटेंड पुलिस कैडेट योजना की भी वस्तुस्तिथि टटोली है, साथ इसमें तेज़ी लाने के निर्देश भी अफ़सरों को उन्होंने दिए है। अवस्थी ने इस बैठक में शहीद पुलिस कर्मियों के परिवारों को दिए जाने वाले अनुकम्पा नियुक्ति एवं देयत्व के लंबित प्रकरणों को भी जल्द निपटाने की बात कही है। साथ ही विभाग के तकनीकी शाखा को और अधिक मजबूत बनाने विभिन्न नवीन तकनीकों का प्रयोग करने कहा गया।

इन अफसरों ने भी दी रिपोर्ट
बैठक में डीजी गुप्त वार्ता संजय पिल्ले, डीजी योजना प्रबंध आर.के. विज, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा तथा पवन देव, पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग हिमांशु गुप्ता और पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर प्रदीप गुप्ता, पुलिस महानिरीक्षक रायपुर डॉ. आनंद छाबड़ा सहित समस्त पुलिस अधीक्षक उपस्थित थे।