EXCLUSIVE : कमला के “राम” बने रमन, मंच पर खिलाया बेर…

रायपुर / दंतेवाड़ा। विकास यात्रा पर निकले मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह का बड़े किलेपाल में वैसे तो भव्य स्वागत सत्कार हुआ। खूब नारेबाजी और फुल-मालाओं से उन्हें लादा गया। मगर एक वृद्धा के प्रेम और आशीर्वाद ने रमन का दिल जीत लिया। बडे किलेपाल में सभा के लिए तैयार मंच पर पहुंचने के बाद बारी बारी सभी ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। इतने में मंच पर मुख्यमंत्री का स्वागत करने की जिद लिए तुरंगुर की वृद्ध मंहिला कमला नाग खड़ी थी। जिसे भाजपा नेता और सुरक्षा में तैनात जवानों ने मुखिया के कहने पर मंच तक जाने दिया। जब कमला नाग मुखिया के पास पहुंची तब उसने अपने हाथों में रखा बेर मुखिया की तरफ आगे बढ़ा दिए। फिर क्या था मुखिया ने भी कमला के बेर चखा और उनसे उनकी खैर खबर पूछने लगे। तब कमला नाग ने उनसे कहा कि छत्तीसगढ़ी में कहा कि “तै हमार मन बर राजराम जइसे इंहा आए हस, अब हमर गाँव अउ तरक्की करहि।” इतना कहने की ही देर थी मुखिया ने तत्काल उनका पैर छूकर कमला नाग से आशीर्वाद लिया।गौरतलब है कि कमला नाग विधवा और निःसंतान हैं। उनकी पांच एकड़ की खेती है, जिसे वे अधिया में दे देती हैं। इससे उनको जो कुछ भी आमदनी होती है, उसी से उनका गुजारा चलता है।

ट्वीटर पर किया शेयर
मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने इस पल को अपने ट्वीट पर भी शेयर किया है। मुखिया ने तस्वीर साझा करते हुए लिखा ” आज #VikasYatra के दौरान बड़े किलेपाल में आयोजित स्वागत सभा में माता श्रीमति कमला ने बड़ी आत्मीयता से स्वागत किया और मीठे बेर खिलाए। इसी तरह माताओं के आशीर्वाद से ही मुझे हमारे छत्तीसगढ़ के विकास की प्रेरणा और दुगुने उत्साह से आगे बढ़ने की ताकत मिलती है। “

संबंधित पोस्ट

अजीत जोगी के खिलाफ दर्ज़ FIR पर अब 8 नवंबर को सुनवाई…

इंदौर के होटल में भयंकर आग, घंटों से मशक्क़त जारी

CM योगी से मिला कमलेश का परिवार, और होटल में बरामद हुए कुर्ते

रायपुर आ रही बस का एक्सीडेंट, आठ घायल, तीन गंभीर

हाईकोर्ट ने महिला आयोग सदस्यों को हटाने का आदेश किया निरस्त

पर्चा फेंक नक्सलियों ने मांगी माफी और दी चेतावनी…

अवैध रेत खननः लामबंद ग्रामीणों के कब्जे में हाइवा-कार

बिलासपुर रेलवे जोन से बम पार्सल…पर…

यह इश्क है गालिब…20 रुपये के स्टाम्प पर लिख दिया

कांकेर का सीताफल है खास, दूर-दूर तक पहुंच रही मिठास

SECL में एस.एम. चौधरी ने संभाला निदेशक (वित्त) का जिम्मा

पूर्व कलेक्टर ओपी चौधरी को हाईकोर्ट से मिली राहत, जांच पर रोक…