हरेली : बीजापुर में 40 लाख के 7 गौठान का लोकार्पण

लखेश्वर बघेल नेे की 50 लाख के कामकाजों का ऐलान

बीजापुर। हरेली तिहार के अवसर पर बीजापुर जिले के ईटपाल गांव में आयोजित किया गया। इस अवसर पर समारोह के मुख्य अतिथि बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल नेे ईटपाल में निर्मित गौठान का लोकार्पण किया और लगभग 50 लाख रूपए के विकास कार्यो की घोषणा की। बघेल ने गौठान परिसर में फलदार पौधों का पौधारोपण किया और गौमाता को चारा खिलाकर पूजा अर्चना की। हरेली तिहार पर जिले में लगभग 40 लाख रूपये की लागत से निर्मित सात गौठानों का आज लोकार्पण किया गया।


लखेश्वर बघेल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि क्षेत्र में हरेली तिहार को आमूस तिहार के नाम से जानते है। हरेली तिहार छत्तीसगढ़ का प्रमुख त्यौहार है। आज के दिन गाय बैल नांगर बाड़ी आदि की पूजा अर्चना की जाती है। बघेल ने कहा कि गौठान के निर्माण से स्थानीय स्तर पर रोजगार का सृजन भी किया जा सकेगा। लोगों को स्थायी रोजगार मिलेगा। इस अवसर पर विभिन्न समूहों स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा विभिन्न मांग पत्र प्रस्तुत किए गए। बघेल ने ईटपाल स्व सहायता समूह द्वारा मछली पालन हेतु तालाब की मांग की तत्काल स्वीकृति देते हुए बस्तर विकास प्राधिकरण मद से 10 लाख रूपए स्वीकृत किए जाने की घोषणा की। इसी प्रकार अन्य निर्माण कार्यो सड़क सामुदायिक भवन, तालाब, मछली पालन, छोटे छोटे उद्योग के लिए समूहों के विभिन्न मांग पत्रों पर लगभग 30 लाख रूपए बस्तर विकास प्राधिकरण से दिए जाने की बात कही। उन्होंने ईटपाल स्थित स्व सहायता समूहों को मुर्गी पालन अण्डा उत्पादन व चिक्की निर्माण ईकाई हेतु 07 लाख बस्तर विकास प्राधिकरण से दिए जाने की घोषणा की।

कड़कनाथ, आईस बाक्स एवं मछली बीज का हुआ वितरण
इस मौके पर विभिन्न विभागों द्वारा सामग्री का वितरण किया गया। इंदिरागांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के तहत 09 हजार 50 रूपये हितग्राहियों को वितरित किए गए। पशु चिकित्सा विभाग द्वारा बैक यार्ड कुककुट पालन योजनार्न्तगत कडकनाथ चूजे का वितरण हितग्राहियों को किया गया। कृषि विज्ञान केंन्द्र द्वारा हितग्राहियों को मुनगा के पौधे और उड़द वितरित किया गया। कृषि विभाग द्वारा किसानों को उड़द के मिनीकिट और मत्स्य पालन विभाग द्वारा आईस बाक्स एवं मछली बीज का वितरण किया गया।