जेल में बीमार हुए जूनियर जोगी, साँस लेने में हो रही तकलीफ

रात तीन बजे अस्पताल से इलाज करा कर लौटे आज भी हुए कई टेस्ट

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी की तबियत बिगड़ने की ख़बर आई है। कल देर रात अमित जोगी को अस्पताल ले जाया गया था क्योंकि उन्हें सीने में दर्द और सांस नहीं ले पाने की शिकायत थी। पुलिस अफसरों के मुताबिक उन्हें इलाज के कुछ घंटे बाद जेल वापस लाया गया था। बिलासपुर जिले के गौरेला उप-जेल में बंद अमित जोगी ने बुधवार रात सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत की। गौरेला टीआई दिनेश कुर्रे ने कहा कि उन्हें रात 10.30 बजे एक स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्थानांतरित किया गया। एक चेक-अप के बाद, उन्हें सरकार द्वारा संचालित एमसीएच अस्पताल गौरेला में स्थानांतरित कर दिया गया। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के बाद जूनियर जोगी को रात तकरीबन 3 बजे वापस जेल भेज दिया गया था। उनके आज भी टेस्ट होने की बात कही जा रही है।


गौरतलब है कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी को 3 सितंबर को समीरा पैकरा द्वारा दर्ज की गई शिकायत के बाद गिरफ्तार किया गया था। समीरा 2013 के राज्य विधानसभा चुनावों में मरवाही से भाजपा उम्मीदवार थी जिसमें अमित जोगी ने जीत दर्ज़ की थी। मंगलवार को जोगी को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया, जिसमें उन्हें 14 दिनों के लिए न्यायिक रिमांड में भेज दिया गया था। उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी। जमानत याचिका को सत्र न्यायालय ने भी ठुकरा दिया था।

ये लगाया है आरोप
समीरा पैकरा ने आरोप लगाया है कि अमित जोगी ने 2013 के चुनावों के लिए नामांकन दाखिल करते समय हलफनामे में अपने जन्म की तारीख और जगह के बारे में गलत जानकारी दी थी। जोगी ने बिलासपुर जिले के सरबाहरा गाँव के रूप में अपने जन्मस्थान का उल्लेख किया, लेकिन जब उन्होंने भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन किया था तो उन्होंने उल्लेख किया था कि उनका जन्म शिकायत के अनुसार संयुक्त राज्य अमेरिका में हुआ था। उन पर धोखाधड़ी और जालसाजी का आरोप लगाया गया था।