Cyclone Fani : छत्तीसगढ़ में 50 से 60 किमी की रफ्तार से आंधी

Cyclone Fani के लिए ओडिशा समेत कई राज्य में हाई अलर्ट जारी

रायपुर। चक्रवाती तूफान फोनी को लेकर उड़ीसा समेत कई राज्य में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। बीते 3 दिनों से पूरा उड़ीसा राज्य इस तूफान को लेकर पूरी तरह से सजग और मुस्तैदी के साथ इसके सामना करने के लिए तैयार है। राज्य शासन ने जहां हाईअलर्ट के तहत शैक्षणिक संस्थानों और दफ्तरों को बंद करने के निर्देश दिए हैं। वहीं समुद्री तट में रह रहे हजारों लोगों को सेफ प्लेस में भी लगातार शिफ्ट करने का काम किया जा रहा है।

Cyclone Fani                            मौसम वैज्ञानिकों की अगर मानें तो चक्रवाती तूफान फोनी 1999 में आए सुपर साइक्लोन से भी ज्यादा खतरनाक और तेज रफ्तार वाला होगा। मौसम वैज्ञानिकों ने इस बात की आशंका जताई है कि 3 मई को यह तूफान उड़ीसा के तटीय क्षेत्रों से टकराते हुए बंगाल की तरफ निकलेगा। जब ये तूफान ओडिशा के तटीय क्षेत्रों में टकराएगा तो हवा की रफ्तार 175 किलोमीटर प्रति घंटे के आसपास रहने की उम्मीद है। बंगाल की खाड़ी के ऊपर पुरी से करीब 660 किलोमीटर साऊथ-वेस्ट में केंद्रित चक्रवात (Cyclone Fani) ओडिशा तट की तरफ बढ़ रहा है।

Cyclone Faniछत्तीसगढ़ में दिखेगा असर
मौसम विज्ञानिक के मुताबिक साइक्लोन फोनी फिलहाल पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर है, जो विशाखापट्टनम से लगभग 300 किलोमीटर की दूरी पर साउथ वेस्ट में है। अब धीरे-धीरे ये वहां से बढ़ते हुए ओडिशा की तरफ आगे आ रहा है, जो 3 मई को दोपहर बाद तक टकराने की संभावना है। इस टकराव से उड़ीसा के साथ-साथ छत्तीसगढ़ में भी इसका जबरदस्त असर दिखाई देगा। छत्तीसगढ़ में भी 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चलने की संभावना मौसम वैज्ञानिकों ने जताई है।

बारिश और नमी से उतरेगा पारा
चक्रवात फोनी से प्रदेश का तापमान घटेगा वहीं बारिश की भी संभावनाएं प्रदेश के की जिलों में दी गई है। मौसम वीभाग के मुताबिक इस चक्रवात की वज़ह से प्रदेश का तापमान 4 से 5 दिन तक कुछ कम होगा और हवा में थोड़ी नमी रहेगी। उसके बाद तापमान में 4 से 5 डिग्री बढ़ोतरी की संभावना भी बताई जा रही है।