समय में सुरक्षित तरीके हो ट्रेन परिचालन-जीएम

जीएम बिलासपुर ने ली डीआरएम के साथ समीक्षा बैठक

बिलासपुर। सुरक्षित रेल परिचालन एवं यात्री गाडियों की टाइमिंग को दुरुस्त करने के लिए महाप्रबंधक बिलासपुर ने जोन के सभी डीआरएम से चर्चा की। वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए हुई इस चर्चा में जीएम अजय विजय वर्गीय ने समीक्षा बैठक ली है। इस बैठक में महाप्रबंधक द्वारा संरक्षा के मापदंडो के अनुरूप कार्य करने के निर्देश दिये गए। उन्होनें विशेष रूप से बरसात और ठंड के मौसम के दौरान समस्त विभागो द्वारा संरक्षा के मद्देनजर रखी जाने वाली सावधानियों, रेल लाइनों पर पेट्रोलिंग करते हुए पूरे जोन के ट्रैक की सतत निगरानी रखे जाने के निर्देश दिये।

इसके साथ ही जोन में स्थित छोटे बडे सभी रेल पुलों की सतत निगरानी, आरयूबी/आरओबी निर्माण की प्रोग्रेस रिपोर्ट, दुर्घटना राहत ट्रेन (एआरटी / एआरएमई) में टूल्स एवं सामानो का निरीक्षण, सभी प्रकार के सेफ़्टी औजारो की उपलब्धता आदि की भी निगरानी एवं निरीक्षण के आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

ट्रैक मेंटेनर रखे सावधानी
इस बैठक में रेल लाइनों पर कार्य करने वाले ट्रैक मेंटेनरों को लाइन पर कार्य करते समय आवश्यक सावधानी रखने तथा उनके ग्रुप के किसी एक ट्रैक मेंटेनर को कार्य के दौरान संरक्षा के लिए चालू लाइन पर गाड़ियों की आवाजाही की निगरानी तथा गाड़ी आने-जाने की स्थिति में ग्रुप को सचेत करने पर भी चर्चा हुई ।

टाइमिंग पर दिया ज़ोर
जीएम विजय वर्गीय ने बैठक में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में यात्री गाड़ियों की समयबद्वता के लेकर भी समीक्षा की है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के तीनो मंडलों बिलासपुर, रायपुर तथा नागपुर में यात्री गाड़ियों की समयबद्वता सुनिश्चित करने के लिए भी निर्देशित किया है। उन्होंने जोन के भीतर सभी यात्री गाड़ियों को निर्धारित समय-सारणी के अनुसार चलानें के निर्देश दिये गये है। जोनल स्तर पर भी इसकी सतत् मानिटरिंग की जा रही है। बैठक में महाप्रबंधक के द्वारा संरक्षा एवं यात्री गाड़ियों की समयबद्वता में बढ़ोत्तरी हेतु आवश्यक दिशानिर्देश भी जारी किये गए ।

बैठक में ये रहे मौजूद
इस बैठक में अनिल कुमार, अपर महाप्रबंधक, पी.के. जेना, प्रधान मुख्य परिचालन प्रबंधक, रवि बाबू, प्रधान मुख्य वाणिज्य प्रबंधक, एस के गुप्ता, प्रधान मुख्य इंजीनियर सहित समस्त विभागाध्यक्ष तथा बिलासपुर, रायपुर एवं नागपुर मंडल के मंडल रेल प्रबंधक सहित अन्य अधिकारीगण विडियो कान्फ़ेंसिंग के माध्यम से सम्मिलित हुये ।