संकट में येदियुरप्पा, SC ने कहा-कल चार बजे तक साबित करें बहुमत


नई दिल्ली। कर्नाटक में मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को कोर्ट ने शनिवार शाम चार बजे विधानसभा में बहुमत परीक्षण कराने का आदेश दिया। इस फैसले के बाद बीजेपी को बहुमत साबित करने के लिए अब 14 दिनों का समय नहीं मिलेगा। सबसे पहले बीजेपी की तरफ से सुप्रीम कोर्ट को वह लेटर उपलब्ध कराया गया जिसे येदियुरप्पा की तरफ से राज्यपाल को भेजा गया था। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट में आज कांग्रेस और जेडीएस की याचिका पर सुनवाई हुई। जस्टिस सीकरी, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस बोबडे की तीन जजों की बेंच ने मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस सीकरी ने कहा कि इस विवाद का व्यवहारिक हल ही एकमात्र उपाय है। इसलिए उन्होंने भाजपा के वकील से कहा है कि वो या तो कल शाम 4 बजे तक बहुमत साबित करें या फिर कोर्ट येदुरप्पा के शपथ ग्रहण की वैधता पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई शुरू करेगा। बीजेपी के वकील मुकुल रोहतगी ने सुप्रीम कोर्ट से बहुमत परीक्षण के लिए सोमवार तक का वक्त मांगा था लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने देने से इनकार कर दिया। कांग्रेस की तरफ से वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि फ्लोर टेस्ट की वीडियोग्राफी हो और विधायकों को सुरक्षा मिलनी चाहिए ताकि वह वोट कर सकें। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक विधानसभा में एंग्लो-इंडियन सदस्य की नियुक्ति पर भी रोक लगा दी है।
बता दें कि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की तरफ से एक और याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई थी। ये याचिका एंग्लो-इंडियन विधायक के चुनाव के विरोध में दायर की गई थी। याचिका मे सीएम बीएस येदुियुरप्पा के सदन में बहुमत साबित करने तक एंग्लो इंडियन विधायक मनोनीत किए जाने पर रोक लगाने की मांग की गई थी।

संबंधित पोस्ट

जेएनयू में एससी/एसटी छात्रों के साथ भेदभाव नहीं होगा : पासवान

दुष्कर्म के मामले में 6 महीने के अंदर हो सजा : केजरीवाल

16 करोड़ लोगों को रोजगार देगा गडकरी का मंत्रालय

पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की, मोर्टार दागे

सहकर्मी की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म में सीआईएसएफ का कांस्टेबल गिरफ्तार

हिंदुत्व ताकतों से लड़ाई का नेतृत्व नहीं कर सकते राहुल : रामचंद्र गुहा

बस्तर में सीआरपीएफ कैम्प के ऊपर उड़ता दिखा ड्रोन

दोषियों के वकील को बार काउंसिल का नोटिस

मुशर्रफ की मुश्किलें बढ़ीं, मौत की सजा के खिलाफ सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सड़क पर बिछा बोरा चक्के में फंसा और बस यूं पलटी

सुलेमानी की हत्या अमेरिका के लिए शर्म की बात : खामेनी

कलबुर्गी हत्या मामले की सुप्रीम कोर्ट ने बंद करायी निगरानी