अब मंत्रिमंडल में लिए कर्नाटक में “नाटक…..”


बंगलौर। कर्नाटक के सियासी नाटक में थोड़ी शांति है, मगर नाटक का क्लाइमेक्स अभी बाकी है। सीएम की शपथ ग्रहण के बाद अब कर्नाटक में खींचतान का दूसरा दौर शुरू हो गया है। अब मंत्रीमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर कांग्रेस और जेडीएस के बीच मतभेद उभर रहे हैं। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने स्वीकार किया है कि उनके पार्टी और कांग्रेस के बीच विभागों के आबंटन को लेकर कुछ मतभेद हैं, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। जिससे सरकार को खतरा हो बता दें कि फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करने के बाद मंत्रीमंडल विस्तार को लेकर कुमारस्वामी शनिवार को दिल्ली रवाना हो गए। उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और डीके शिवकुमार के साथ उनकी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से चर्चा होगी। प्रतिष्ठा का मुद्दा बनाने के बजाय सुलझाने की कोशिश। कुमारस्वामी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा है कि उनकी पार्टी और कांग्रेस के बीच मतभेद जरूर हैं, लेकिन इसे प्रतिष्ठा का मुद्दा बनाने के बजाय वे समस्या को हल करने की कोशिश करेंगे। कुमारस्वामी ने कहा कि कांग्रेस आलाकमान की मंजूरी के बाद ही मंत्रीमंडल का विस्तार किया जाएगा। कुमारस्वामी ने बताया कि राज्य कांग्रेस के नेताओं को अपने केंद्रीय नेतृत्व से मंजूरी लेनी है, इसलिए वे दिल्ली जा रहे हैं। बता दें कि मंत्रीमंडल में 34 सदस्य होंगे जिसमें से कांग्रेस के 22 और जेडीएस के 12 मंत्री होंगे।

संबंधित पोस्ट

पाक से करीब 300 आतंकवादी भारत में घुसपैठ के इंतजार में’

ब्रिटेन में सूडानी लड़की को शरण देने के लिए प्रीति पटेल पर दबाव

विकास दुबे एनकाउंटर के कुछ घंटे पहले दाखिल याचिका में ऐसी आशंका जताई गई थी

एलईडी के उपयोग से देश में 24 हजार करोड़ की बचत : मोदी

विकास के एनकाउंटर की आशंका पहले से थी : विवेक तन्खा

केरल में सोना तस्करी मामले की आरोपी स्वप्ना ने मांगी अग्रिम जमानत

भारतीय मूल के व्यक्ति का गला दबाने वाले अमेरिकी पुलिसकर्मी के खिलाफ प्रदर्शन

पीएमजीकेएवाई की अवधि 5 महीने बढ़ाने पर मंत्रिमंडल ने लगाई मुहर

31 मार्च के बाद बेचे गए बीएस-4 वाहनों का पंजीकरण नहीं होगा : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट फर्जी बाबाओं के आश्रमों पर दाखिल याचिका पर विचार करने को सहमत

पीओके में उठी नदी, मुजफ्फराबाद को बचाने व पाकिस्तान-चीन से बचाने की आवाज

सरकारी पैनल करेगी राजीव गांधी फाउंडेशन की जांच,बनाई गई समिति