‘पहले अपने दामन में झांके पाकिस्तान’

पाक सेना अधिकारी को केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का करारा जवाब

भुवनेश्वर. क्रिसमस के दिन ट्वीट कर आर्मी के प्रवक्ता मेजर नजर आशिफ गफूर ने क्रिसमस की बधाई देते हुए भारत के ओडिशा राज्य को हिंदुत्व के माहौल से आसक्त बताया है। इस पर भारत के केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने उन्हें करारा जवाब देकर कहा कि धर्म के नाम पर नरसंहार, अत्याचार और अल्पसंख्यक समुदाय पर अत्याचार करने वाले पड़ोसी, ऐसी बातें न करें। अपने देश में रहने वाले ईसाइयों की हत्या करने के बाद अब वे अन्यों के लिए चिंतित हो रहे हैं। उन्होंने गफूर के ट्वीट का कड़ा जवाब देते हुए कहा-

‘घर के ईसाई मार दिए, आज पड़ोसियों की चिंता है?
इन बड़बोलों से कह दो जरा, भारत में सब जिंदा हैं।‘

दरअसल, आसिफ गफूर ने ट्वीट कर भारत के ईसाइयों को बधाई देते हुए कहा था कि ‘पाकिस्तान, पूरी दुनिया और खासकर ओडिशा जैसे राज्यों, जो कि हिंदुत्व के माहौल से आसक्त हैं, में रह रहे ईसाइयों को मेरी क्रिसमस।’ इस पर ओडिशा के ही निवासी और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने आसिफ गफूर के इस ट्वीट का जवाब दिया। प्रधान ने लिखा कि यह सब वह व्यक्ति कह रहा है, जो धार्मिक और वैचारिक अल्पसंख्यकों के खिलाफ नरसंहार के केंद्र में बैठा हुआ है। मैं पाकिस्तान में बचे-खुचे ईसाइयों को क्रिसमस की बधाई देता हूं।

ओडिशा में सत्ताधारी बीजू जनता दल (बीजेडी) के नेता और राज्यसभा सदस्य सस्मित पात्र ने भी गफूर के ट्वीट के जवाब में कहा कि पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता की ईसाइयों को इस तरह दी गई क्रिसमस की बधाई शर्मनाक है। उनके द्वारा ओडिशा का नाम लिया जाना, उनके अज्ञान और राज्य के बारे में उनकी कम समझ को दर्शाता है। आसिफ गफूर का यह ट्वीट उस समय आया है, जब भारत में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए धार्मिक रूप से प्रताड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का कानून बनाया गया है। हालांकि, आसिफ गफूर ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि उन्होंने ओडिशा का नाम क्यों लिया।

गौरतलब है कि इसी साल ओडिशा में ईसाइयों के खिलाफ हिंसा के कुछ मामले सामने आए थे। इससे पहले 2008 में भी जमकर हिंसा हुई थी और हिंदू संत स्वामी लक्ष्मणानंद सरस्वती की हत्या कर दी गई थी।

संबंधित पोस्ट

निर्भया के दोषियों को फांसी अब 1 फरवरी को

चीन में 7 दशक में सबसे कम जन्म दर

जेएनयू में 3 फरवरी से शुरू हो सकती हैं कक्षाएं

‘ईरान के मिसाइल हमले में 11 अमेरिकी सैनिक घायल हुए थे’

फ्रांस : 2022 का राष्ट्रपति चुनाव लड़ेंगी दक्षिणपंथी मरिन ले पेन

संविधान को पाठ्यक्रम में शामिल करने पर 3 महीने में फैसला ले केंद्र : सुप्रीम कोर्ट

छत्तीसगढ़ से भोपाल पहुंचा बब्बर शेर का जोड़ा

निर्भया के दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट की नई याचिका

बापू को भारतरत्न देने के निर्देश की मांग खारिज

पगार 6 हजार पर खाते से 132 करोड़ का लेन-देन !

राष्ट्रपति ने निर्भया के दोषी की दया याचिका खारिज की

उप्र में थ्री-नॉट-थ्री को अंतिम विदाई