राष्ट्रपति ने दी पॉस्को संशोधन को मंज़ूरी, हस्ताक्षर किए !


नई दिल्ली। पॉस्को एक्ट में 12 साल तक की नाबालिग से अनाचार के आरोपी को फांसी की सजा का अध्यादेश शनिवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में मंजूर हुआ था। इस अध्यादेश पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हस्ताक्षर कर दिए हैं। इसके साथ ही यह कानून देशभर में लागू हो गया हैं। आगामी राज्यसभा और लोकसभा सत्र में इसे पेशकर छह महीने के भीतर पास कराना होगा। हालांकि देशभर में हो रही घटनाओं और उस पर जनता के उबाल को देखते हुए इस पर कानून बनने में किसी तरह की दिक्कत पेश आने की उम्मीद नहीं है।
गौरतलब है कि जम्मू के कठुआ और उत्तर प्रदेश के एटा में नाबालिग बच्चियों के साथ रेप की घटनाओं ने देश को झकझोर कर रख दिया है, जिसके बाद सरकार ने नाबालिगों से रेप करने वालों के लिए कड़ी सजा का प्रावधान करने का फैसला लिया है। अभी तक इस कानून में दोषियों के लिए मौत की सजा का प्रावधान नहीं था। कठुआ में आठ साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार और उसके बाद हत्या की घटना के बाद से ऐसे अपराध के लिए फांसी की सजा की मांग उठ रही थी।