बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगी महाराष्ट्र सरकार

मुंबई | महाराष्ट्र सरकार ने बॉम्बे हाईकोर्ट के उस आदेश को चुनौती देने के लिए सुप्रीम कोर्ट का रुख करने का फैसला किया है, जिसमें उसने सोमवार को पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ लगाए गए आरोपों की सीबीआई जांच का निर्देश दिया था।

महाराष्ट्र सरकार के नव-नियुक्त गृहमंत्री दिलीप वाल्से-पाटिल ने आज दोपहर ‘संवेदनशील’ मंत्रालय का कार्यभार संभाला लिया। उन्होंने कहा, “राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट के समक्ष बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देगी।”

मीडियाकर्मियों से बात करते हुए वाल्से-पाटिल ने यह भी कहा कि राज्य सरकार मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए आरोपों पर अपनी जांच में केंद्रीय जांच ब्यूरो को पूरा सहयोग करेगी।
Supreme Court of India. (Photo Courtesy: Twitter)
बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेशों के अनुसार, सीबीआई देशमुख के खिलाफ सिंह के आरोपों की ‘प्रारंभिक जांच’ करेगी और अपनी आगे की कार्रवाई तय करने से पहले 15 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट देगी।

गौरतलब है कि अदालत के फैसले के कुछ ही घंटे बाद देशमुख अपने पद से हट गए और अब वह सुप्रीम कोर्ट में भी स्वतंत्र रूप से इस फैसले को चुनौती देने पर विचार कर रहे हैं।

वाल्से-पाटिल ने स्वीकार किया कि उन्होंने राज्य में बहुत ही कठिन और चुनौतीपूर्ण समय में जिम्मेदारी संभाली है। प्रदेश की सत्तारूढ़ 16 महीने की महा विकास अघाडी सरकार कई तरह के संकटों से जूझ रही है।

–आईएएनएस

संबंधित पोस्ट

नीट पीजी परीक्षा स्थगित कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे डॉक्टर

वस्तु एवं सेवा कर नागरिक-हितैषी होना चाहिए : सुप्रीम कोर्ट

परमबीर की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने बॉम्बे हाईकोर्ट भेजा

सुप्रीम कोर्ट ने मोरेटोरियम के दौरान बैंकों पर ब्याज पर ब्याज लगाने से लगाई रोक

पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम के खिलाफ एफआरआई दर्ज करने का आदेश

भारत ने असम राइफल्स को म्यांमार से आने वाले लोगों को रोकने का दिया आदेश

स्थानीय निकायों में ओबीसी कोटा की सीमा 50 फीसदी का उल्लंघन न हो : सुप्रीम कोर्ट

ओटीटी कंटेंट को रेगुलेट करने के लिए क्या कदम उठा रही है सरकार : सुप्रीम कोर्ट

विरोध का अधिकार कभी भी और हर जगह नहीं हो सकता : सुप्रीम कोर्ट  

सुशांत मामले में सीबीआई की चुप्पी पर सवाल उठाना है तो हाईकोर्ट जाएं : सुप्रीम कोर्ट  

एफआईआर के खिलाफ थरूर, सरदेसाई और अन्य ने सुप्रीम कोर्ट रूख किया

सुप्रीम कोर्ट ने एफआईआर दर्ज करने संबंधी याचिका पर विचार से किया इनकार