गाजा से 1,600 रॉकेट दागे गए, 7 इजरायली नागरिकों की मौत

तेल अवीव | फिलिस्तीनी आतंकवादियों ने इस सप्ताह शुरू हुई लड़ाई के बाद अब तक गाजा से इजरायल पर 1,600 से अधिक रॉकेट दागे हैं। इजरायल की सेना ने गुरुवार को यह जानकारी दी। डीपीए न्यूज एजेंसी ने सैन्य प्रवक्ता जोनाथन कॉनरिकस के हवाले से यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि इजरायल के आयरन डोम हवाई रक्षा प्रणाली की सफलता की दर लगभग 90 प्रतिशत दर्ज की गई है। यानी इजरायल का एयर डिफेंस सिस्टम करीब 90 प्रतिशत रॉकेट को हवा में ध्वस्त करने में सक्षम रहा है।

सोमवार को रॉकेट गिरने से इजरायल में सात लोगों की मौत हो गई, जिसमें छह नागरिक और एक सैनिक शामिल हैं।

इजरायल की सेना ने गाजा पट्टी में लगभग 600 ठिकानों पर हमला किया है, जिसमें रॉकेट उत्पादन और भंडारण सुविधाएं शामिल हैं।

सैन्य प्रवक्ता ने कहा कि एक सुरंग को भी लक्षित किया गया है। उन्होंने कहा कि इसे लड़ाकों को छिपाने के लिए आंशिक रूप से इस्तेमाल किया जा रहा था इसे एक आबादी वाले क्षेत्र में एक स्कूल में बनाया गया था।

फिलिस्तीनी आतंकवादियों के पास कितने शस्त्रगृह (शस्त्रागार) हैं, इस पर सैन्य प्रवक्ता ने ठोस जवाब नहीं दिया।

उन्होंने कहा कि उनके पास यह बहुत बड़ी मात्रा है और अभी भी काफी मात्रा में बचे हैं।

इजरायल ने गाजा पट्टी के किसी भी हमले के लिए इस्लामिक हमास और गाजा पट्टी के शासकों को दोषी ठहराया।

हमास समूह को इजरायल के साथ ही यूरोपीय संघ द्वारा एक आतंकवादी संगठन के रूप में वगीकृत किया गया है।

पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि रात भर चल रहे हमलों के दौरान, तेल अवीव के पास पेटाह टिकवा शहर पर सीधा प्रहार किया गया, जिसमें पांच लोग घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल ले जाया गया।

12 May 2021, Palestinian Territories, Gaza City: Rockets are fired by the Palestinian Islamist movement Hamas from Gaza City towards Israel, amid the escalating flare-up of Israeli-Palestinian violence. Photo: Mohammed Talatene/dpa/IANS

 

इजरायली सेना ने कहा कि उसके लड़ाकू विमानों ने रातोंरात हमास के मुख्य बैंक, उसके नौसैनिक बल के एक दस्ते और खुफिया तंत्र पर हमला किया।

पिछले कई दिनों से जारी हिंसा में दर्जनों मारे जा चुके हैं, जिनमें से अधिकांश गाजा से हैं।

अंतराष्र्ट्ीय समुदाय ने लड़ाई को रोकने का आह्वान किया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बुधवार को इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ बात की हमास और अन्य समूहों द्वारा रॉकेट हमलों की निंदा की। बाइडेन ने इजरायल के लोगों की सुरक्षा के साथ इजरायल के वैध अधिकारों को लेकर अपना समर्थन व्यक्त किया।

बाद में, अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास से बात की और तनाव को कम करने की आवश्यकता पर बल दिया।

अब्बास फिलिस्तीन लिबरेशन संगठन के प्रमुख है, जिसमें हमास शामिल नहीं है।

–आईएएनएस