अगस्तावेस्टलैंड मामला : ईडी ने श्रवण गुप्ता से जुड़े 7 ठिकानों पर मारे छापे

दिल्ली और हरियाणा के गुरुग्राम में सात स्थानों पर तलाशी जारी

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को एम्मार एमजीएफ के पूर्व प्रबंध निदेशक श्रवण गुप्ता पर अपनी पकड़ मजबूत करते हुए 3600 करोड़ रुपये के अगस्तावेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर से जुड़े धनशोधन के मामले में दिल्ली व गुरुग्राम के सात ठिकानों पर तलाशी ली। ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पुष्टि की कि वित्तीय जांच एजेंसी गुप्ता से जुड़े स्थानों पर दिल्ली और हरियाणा के गुरुग्राम में सात स्थानों पर तलाशी ले रही है।

ईडी ने गुप्ता को 2016 में तलब करते हुए पूछताछ की थी। इस मामले में जांच के दौरान उनका नाम सामने आने के बाद उनसे पूछताछ हुई थी।

ईडी अधिकारियों के अनुसार, यह पाया गया कि कथित बिचौलिया गुइडो हेश्के सितंबर और दिसंबर 2009 के बीच गुप्ता की फर्म का एक स्वतंत्र निदेशक था।

ईडी ने 2015 में अपनी चार्जशीट में दावा किया कि उसने मामले में नामजद अभियुक्तों की कंपनियों को विदेशों से भेजी गई कथित रिश्वत का पता लगाया है। इन नामजद लोगों में एडवोकेट गौतम खेतान और पूर्व वायुसेना प्रमुख एस.पी. त्यागी का चचेरा भाई शामिल है।

ईडी ने आगे आरोप लगाया कि प्रभावशाली लोगों और राजनेताओं को कथित रूप से भुगतान की गई रिश्वत का एक हिस्सा गुप्ता से संबंधित कंपनी में लगाया गया था।

इस संबंध में ईडी ने ब्रिटिश नागरिक और एक कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल जेम्स को दिसंबर 2018 में गिरफ्तार किया था।

ईडी की यह कार्रवाई इटली की कंपनी फिनमैकेनिका की ब्रिटिश अनुषंगी कंपनी अगस्तावेस्टलैंड से हुई 12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों की खरीद में कथित अनियमितताओं से संबंधित है।

(आईएएनएस)