अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू से छीना मंत्रालय

विवादित बयानों से नाराज़ थे सीएम अमरिंदर

चंडीगढ़। लोकसभा चुनाव के बीच सामने आई कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू की तकरार के बाद आखिरकार सिद्धू का मंत्रालय बदल ही गया। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू से शहरी विकास मंत्रालय छीन लिया है। उनके पास अब केवल ऊर्जा मंत्रालय बचा हुआ है।
कैप्टन अमरिंदर

इसके बीच खबरें ये भी आ रही थी की सिद्धू से विकास मंत्रालय छीनकर उन्हें केवल पर्यटन मंत्रालय देने का मन कैप्टन अमरिंदर ने बना लिया है। गौरतलब है कि कैप्टन और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच लोकसभा चुनाव के दौरान जबरदस्त तल्खी देखी गई थी। पंजाब में कांग्रेस की 8 सीटें जीतने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस हार का ठीकरा नवजोत सिंह सिद्धू के सर थोड़ा था। कैप्टन ने यह भी आरोप लगाया था कि सिद्धू अगर पाकिस्तान में वहां के सेना प्रमुख बाजवा से गले नहीं मिलते तो पंजाब में लोकसभा सीटों का आंकड़ा इससे कहीं ज्यादा होता। कैप्टन ने लगातार इस बात को भी कहा है कि चुनाव से ठीक पहले कई नुकसान देने वाले बयान लगातार सार्वजनिक मंचों से दिए हैं। इस मसले को अमरिंदर सिंह ने बकायदा राहुल गांधी और सोनिया गांधी के सामने भी उठाया था। जिसके बाद से ही कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सभी मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा की बात भी कही थी।