Big News : रक्षा समिति में सांसद प्रज्ञा, भड़की कांग्रेस

मालेगांव ब्लास्ट मामलें में ज़मानत पर है प्रज्ञा ठाकुर

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता वाली रक्षा समिति में भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर को भी शामिल किया गया है। 21 सदस्यीय संसदीय सलाहकार समिति में प्रज्ञा को आज नामित किया गया है। साल 2008 के मालेगांव विस्फोट मामले के एक अभियुक्त प्रज्ञा ठाकुर वर्तमान में जमानत पर हैं, उन्हें बीमार और स्वास्थ्य के आधार पर ये ज़मानत मिली है। गौरतलब है कि प्रज्ञा पर गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम, भारतीय दंड संहिता, शस्त्र अधिनियम और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम की धाराओं के तहत कई आरोप है जिन पर अबी भी मुक़दमा जारी है।

इधर इस नियुक्ति के बाद कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर तीखा हमला बोलै है। कांग्रेस ने अपनी प्रतिक्रिया में इस नियुक्ति को देश की रक्षा सेना का अपमान करार दिया है। साथ ही कांग्रेस ने प्रज्ञा ठाकुर को एक आतंकी अभियुक्त और गोडसे की तरह कट्टरपंथ वाली इस नेत्री को भाजपा सरकार द्वारा नामित करने की निंदा भी की है। कांग्रेस के ऑफिशियल ट्वीट से ये कहा गया कि “यह कदम हमारे देश के रक्षा सांसदों और प्रत्येक भारतीय के लिए, हमारे देश के सुरक्षा बलों का अपमान है।”
कांग्रेस सचिव प्रणव झा ने समाचार एजेंसी से बातचीत में कहा कि उनकी नियुक्ति “लोकतंत्र के लिए अच्छी नहीं थी” और उन्होंने भाजपा सरकार से एक मर्तबा फिर उनके नामा पर विचार करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि “ऐसे लोगों को लाना, जिनके खिलाफ अदालत में मामले चल रहे हैं, लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है। सब कुछ संविधान द्वारा निर्देशित नहीं है, लेकिन कुछ फैसले नैतिक आधार पर भी लिए जाते है।”