Big News : जम्मू-कश्मीर में छत्तीसगढ़िहा मजदूर की आतंकी हत्या

नेहामा के इट भट्ठे में कर रहा था काम मजदूर

रायपुर। जम्मू-कश्मीर में आज दोपहर आतंकियों ने छत्तीसगढ़ के एक मजदूर की गोली मारकर हत्या कर दी। मारे गए मजदूर की पहचान छत्तीसगढ़ के सेठी कुमार सागर के रूप में हुई है, जो नेहामा में एक ईंट के भट्टे पर काम कर रहा था। पुलिस व सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर सर्च अभियान चलाया हुआ है, परंतु अभी तक आतंकवादियों का कोई पता नहीं चल पाया है। वहीं श्रमिक के शव को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। मजदूर छत्तीसगढ़ के किस इलाके के है इसका पता नहीं चल सका है। ज्ञात हो कि प्रदेश के जांजगीर-चांपा और बलौदाबाजार जिले के शिवरीनारायण, कसडोेल इलाके से काफी संख्या में मजदूर काम करने हर बरस दीगर राज्यों में जाते हैं।

पुलिस ने बताया कि घटना दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले की है। पिछले तीन दिन के भीतर आतंकवादियों द्वारा यह दूसरा हमला है। जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में सोमवार को एक संदिग्ध पाकिस्तानी नागरिक समेत दो आतंकवादियों ने राजस्थान के एक ट्रक ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जबकि एक बाग के मालिक से मारपीट की।

 

दरअसल, भारत सरकार द्वारा अनुच्‍छेद-370 हटाए जाने के बाद पाकिस्‍तान में भारी बौखलाहट है। पाकिस्‍तानी सेना सीमा पर सीज फायर वायलेशन की आड़ में लगातार आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश कर रही। भारतीय सेना आतंकियों की घुसपैठ की कई कोशिशों को नाकाम कर चुकी है। एहतियातन जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबल हाई अलर्ट मोड पर हैं और चप्पे-चप्पे पर नाकेबंदी की गई है। यही नहीं वायुसेना के कई एयरबेसों को भी हाई अलर्ट मोड पर रखा गया है। बीते दिनों खुफ‍िया एजेंसियों ने अलर्ट जारी करते हुए कहा था‍ कि बौखलाए आतंकी देश में बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। इसके बाद से देश के संवेदनशी ठिकानों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

बता दें कि पुंछ में नियंत्रण रेखा से सटे शाहपुर किरनी सेक्टर में कल पाकिस्तान ने रिहायशी इलाकों पर गोले दागे थे जिसमें एक महिला की मौत हो गई थी। बीते चार दिनों में पाकिस्तान की गोलीबारी में भारतीय सेना के तीन जवानों ने वीरगति पाई है। रविवार को बारामूला के उड़ी सेक्टर में हुई गोलीबारी में सेना के सिग्नलमैन संतोष गोप शहीद हो गए थे। इससे पहले जम्मू संभाग के नौशहरा के कलाल में पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी में नायक सुभाष थापा ने शहादत पाई थी।