बिहार व महाराष्ट्र में सड़क हादसे, 12 प्रवासी मजदूरों की मौत

दोनों घटनाओं में ट्रक और बसों में टक्कर, बचाव कार्य जारी

भागलपुर। देशभर में लॉकडाउन में ढील होने के बाद सभी राज्यों की सरकारें प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने की व्यवस्था करायी है, जिसकी वजह से रोजाना कई प्रवासी मजदूर ट्रक-बसों से अपने घर को लौट रहे हैं। लेकिन रोजाना कहीं न कहीं से सड़क हादसे की खबर सामने आ रही हैं, जिसमें बैठे प्रवासी मजदूर शिकार बन रहे हैं।

बिहार के भागलपुर जिले के खरीक थाना क्षेत्र में मंगलवार की सुबह एक बस और ट्रक की टक्कर में नौ प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई। मृतक मजदूर सरिया लदे ट्रक पर सवार थे। पुलिस के मुताबिक, एक बस दरभंगा से बांका जा रही थी, इसी दौरान खरीक के अंभो चौक के पास विपरीत दिशा से आ रहे लोहे के सरिया से लदे एक ट्रक ने बस को टक्कर मार दी और ट्रक सड़क के किनारे बने बड़े गड्ढे में पलट गई। ट्रक पर लदे लोहे के सरिया के ऊपर कई मजदूर बैठे थे, जो ट्रक पलटने के बाद लोहे के सरिया के नीचे दब गए हैं। इस घटना में नौ प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई।

नौगछिया के अनुमंडल पदाधिकारी मुकेश कुमार ने बताया कि जानकारी मिलते ही कई इलाकों की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और जेसीबी मशीन की मदद से लोहे की सरिया को हटाया गया। उन्होंने बताया कि इस घटना में नौ मजूदरों की मौत हुई है। अब किसी शव के सरिया के नीचे दबे होने की संभावना नहीं है।

उन्होंने बताया कि मृतकों की पहचान अब तक नहीं हो पाई है। घटनास्थल पर मृतकों के मिले आधार कार्ड के आधार पर ये सभी पूर्वी चंपारण के रहने वाले बताए जा रहे हैं।

कुमार ने संभावना जताते हुए कहा कि ट्रक पर सवार सभी प्रवासी मजदूर साईकिल से कहीं जा रहे होंगे और रास्ते में वे ट्रक पर सवार हो गए। घटनास्थल पर साईकिल भी पड़ी मिली है।

इस हादसे में बस पर सवार 4 लोग भी घायल हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल भेज दिया गया है। ये सभी लोग खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं। घटना के बाद ट्रक का चालक फरार है।

महाराष्ट्र में 3 प्रवासियों की मौत

महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में अरनी के पास मंगलवार तड़के एक बस और ट्रक की भिड़ंत में कम से कम तीन प्रवासियों की मौत हो गई, जबकि 22 अन्य घायल हो गए। पुलिस ने इस बात की जानकारी दी। सड़क दुर्घटना की चपेट में आई बस सोलापुर से झारखंड के कम से कम 25 प्रवासी मजदूरों को लेकर जा रही थी।

घायलों को अरनी और यवतमाल शहर के अस्पतालों में ले जाया गया, जहां दो की हालत गंभीर बताई जा रही है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा प्रवासियों से यातायात को लेकर इंतेजाम होने तक रूकने की अपील के कुछ घंटे बाद ही यह हादसा हुआ है। ठाकरे ने प्रवासी मजदूरों से आग्रह कर कहा है कि राज्य व केंद्र उन्हें बसों और ट्रेनों में सुरक्षित रूप से घर भेजने की व्यवस्था कर रहे हैं, तब तक प्रवासी श्रमिक धैर्य बनाए रखें।

जिला पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और उसने दुर्घटना के कारणों को लेकर आगे की जांच शुरू कर दी है।

(आईएएनएस)

संबंधित पोस्ट

त्रिपुरा सड़क हादसे में 4 भाजपा नेताओं की मौत

घर में आग लगी , एक ही परिवार के 5 की मौत

आगरा : सड़क दुर्घटना में स्कॉर्पियो सवार 9 की मौत ,तीन की हालत गंभीर

बिहार में घोड़े का मना जन्मदिन, मालिक ने काटा केक, दी पार्टी

बिहार: नए मंत्रियों में मिली जिम्मेदारी, शाहनवाज को उद्योग, नितिन को पथ निर्माण  

बिहार में आज नीतीश मंत्रिमंडल का विस्तार, भाजपा से 9, जदयू से 8 बनेंगे मंत्री

बिहार के उपमुख्यमंत्री से मिले राजद के 3 विधायक, सियासी पारा चढ़ा

बंगाल के जलपाईगुड़ी में सड़क दुर्घटना में 14 लोगों की मौत 

कांकेर:  चारामा हाईवे 30 पर सड़क हादसे में 3 लोगों की मौत, 1 जख्मी

बिहार : भाजपा नेता ने नीतीश को दी गृह मंत्रालय छोड़ने की सलाह

बिहार: दागी विधायक मेवालाल को शिक्षा मंत्री बनाकर घिरे नीतीश

बिहार : नीतीश आज सातवीं बार लेंगे शपथ, तारकिशोर का उप मुख्यमंत्री बनना तय