Big Breaking : नहीं रही भाजपा नेत्री सुषमा स्वराज…दिल का दौरा पड़ने से हुआ निधन…

दिल्ली एम्स में ली अंतिम सांसे... भाजपा नेताओं का जमावड़ा

नई दिल्ली। भाजपा नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में मंगलवार को दिल का दौरा पड़ने से हुआ। भाजपा के वरिष्ठ नेता को 10:15 बजे एम्स लाया गया और सीधे आपातकालीन वार्ड में ले जाया गया। एम्स में डॉ. हर्षवर्धन, पीयूष गोयल, प्रल्हाद जोशी और नितिन गडकरी के साथ सुषमा स्वराज के पति और परिवार के अन्य सदस्य मौजूद हैं।
उन्होंने 2016 में किडनी ट्रांसप्लांट कराया था और स्वास्थ्य कारणों से इस साल के लोकसभा चुनाव में नहीं लड़ने का भी फैसला किया था।
सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन से भाजपा समेत पूरे देश मे शोक की लहर है। भाजपा के तमाम दिग्गज नेता एम्स में मौजूद है।
प्रमुख विपक्षीय दल कांग्रेस ने उनके आकस्मिक निधन पर शोक व्यक्त किया और ट्वीट किया, “श्रीमती सुषमा स्वराज के असामयिक निधन के बारे में सुनकर हमें दुख हुआ है। उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति हमारी संवेदना है।”
सुषमा स्वराज का सफ़रनामा…
सुषमा स्वराज (१४ फरवरी,१९५२- ०६ अगस्त, २०१९) एक भारतीय महिला राजनीतिज्ञ और भारत की पूर्व विदेश मंत्री थीं। वे वर्ष २००९ में भारत की भारतीय जनता पार्टीद्वारा संसद में विपक्ष की नेता चुनी गयी थीं, इस नाते वे भारत की पन्द्रहवीं लोकसभा में प्रतिपक्ष की नेता रही हैं। इसके पहले भी वे केन्द्रीय मन्त्रिमण्डल में रह चुकी हैं तथा दिल्लीकी मुख्यमन्त्री भी रही हैं। वे सन २००९ के लोकसभा चुनावों के लिये भाजपा के १९ सदस्यीय चुनाव-प्रचार-समिति की अध्यक्ष भी रहीं थीं।
अम्बाला छावनी में जन्मी सुषमा स्वराज ने एस॰डी॰ कालेज अम्बाला छावनी से बी॰ए॰ तथा पंजाब विश्वविद्यालयचंडीगढ़ से कानून की डिग्री ली। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने पहले जयप्रकाश नारायण के आन्दोलन में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। आपातकाल का पुरजोर विरोध करने के बाद वे सक्रिय राजनीति से जुड़ गयीं। वर्ष २०१४ में उन्हें भारत की पहली महिला विदेश मंत्री होने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है, जबकि इसके पहले इंदिरा गांधी दो बार कार्यवाहक विदेश मंत्री रह चुकी हैं। कैबिनेट में उन्हे शामिल करके उनके कद और उकाबिलियत को स्वीकारा। वे दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री और देश में किसी राजनीतिक दल की पहली महिला प्रवक्ता बनने की उपलब्धि भी उन्हीं के नाम दर्ज है।