Chidambaram : SC में बोले सिब्बल, नहीं दिखाए दस्तावेज़

पी चिदंबरम की जमानत पर सुप्रीम कोर्ट में फसा पेंच

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस नेता पी चिदंबरम द्वारा दायर याचिकाओं पर सुनवाई शुरू हो चुकी है। चिदंबरम को पिछले सप्ताह उनके दक्षिण दिल्ली के घर से गिरफ्तार किया गया था। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है और आईएनएक्स मीडिया मनी-लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार के मामलों में जमानत की अपील की है।

                   इससे पहले आज, उन्हें एक झटका लगा क्योंकि उनकी सीबीआई हिरासत को चुनौती देने वाली याचिका को आज शीर्ष अदालत में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध नहीं किया गया। शीर्ष अदालत ने शुक्रवार को चिदंबरम को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दायर मनी-लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तारी से सोमवार तक राहत दी थी। हालांकि, पी चिदंबरम के लिए यह राहत की बात नहीं रही, उन्हें सोमवार तक सीबीआई की हिरासत में भेजा गया था।

नहीं दिखाए सबूत – सिब्बल
ईडी मामले में शीर्ष अदालत के समक्ष अपनी दलीलें देते हुए, सिब्बल ने कहा कि दिल्ली उच्च न्यायालय को दिखाए गए दस्तावेज पूछताछ के दौरान उनके मुवक्किल के समक्ष पेश नहीं किए गए थे। समाचार एजेंसियों के मुताबिक, “नोट, दस्तावेज और डायरी दिल्ली एचसी जज को सबूत के तौर पर दिए गए थे। इन दस्तावेजों को पूछताछ के दौरान पी चिदंबरम को नहीं दिखाया गया था।”

नहीं है कोई प्रक्रिया- सिब्बल
एससी पीठ ने कहा कि वह ईडी द्वारा प्रस्तुत दस्तावेजों पर लंच के समय सीलबंद कवर में नजर डालेगी। सिब्बल ने हालांकि इस पर आपत्ति जताते हुए कहा कि कानून की कोई प्रक्रिया नहीं है, जिसके द्वारा जांच एजेंसियां इस तरीके से दस्तावेज दे सकती हैं।

संबंधित पोस्ट

सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को अवमानना का दोषी माना, सजा पर फैसला बाकी

ईडी ने मेदांता, नरेश त्रेहन के खिलाफ जांच की जिम्मेदारी संभाली

प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार योजनाएं बनाए : सुप्रीम कोर्ट

ऐसी व्यवस्था बनाएं कि कोई ठेकेदार बच्चों को काम पर न रख सकें : सुप्रीम कोर्ट

रिश्वत मामले में ईस्टर्न कोलफील्ड्स का क्लर्क गिरफ्तार

ईरानी महावाणिज्यदूतावास की याचिका सुप्रीम कोर्ट में खारिज

सुप्रीम कोर्ट ने CAA के खिलाफ दायर नई याचिकाओं पर केंद्र को भेजा नोटिस

महाप्रबंधक रहे अशोक चतुर्वेदी को बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने FIR पर दिया स्थगन

व्हाट्सएप कॉल पर सुनवाई वर्चुअल कोर्ट में मुश्किल : सुप्रीम कोर्ट

शीर्ष अदालत ने बंद के दौरान पूर्ण वेतन संबंधी सर्कुलर पर रोक लगाई

सुप्रीम कोर्ट की गर्मी की छुट्टियां रद्द, 19 जून तक जारी रहेगा काम

सुप्रीम कोर्ट ने मजदूरों के पलायन पर कहा, अदालत कैसे करे निगरानी