नहीं थम रहा कोटा के अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला

नए साल में आंकड़ा 102 पर

कोटा। राजस्थान के कोटा शहर स्थित जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। नए साल के पहले दो दिन दो बच्चों की मौत के बाद इसे मिलाकर बच्चों की हुई मौत का कुल आंकड़ा 102 हो गया है। कोटा से लेकर जयपुर से दिल्ली तक बवाल मचा हुआ है। जहां भाजपा ने भी प्रदेश की गहलोत सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सरकार संवेदनशील है। इस मामले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

इधर, अस्पताल प्रशासन ने बताया कि दिसंबर 2018 में इसी अस्पताल में 77 बच्चों की मौत हो गई थी। अस्पताल के सुपिरिंटेंडेंट डॉ सुरेश दुलारा ने बताया कि 30 दिसंबर को 4 बच्चों और 31 दिसंबर को 5 बच्चों की मौत हो गई। उन्होंने इसके पीछे वजह बताते हुए कहा कि सभी की मौत जन्म से कम वजन के चलते हुई है।

इस बीच, जेके लोन के बाल रोग विभाग के प्रमुख अमृतलाल बैरवा ने कहा कि वर्ष के अंतिम दो दिनों में जिन आठ बच्चों की मृत्यु हुई, वे समय से पहले प्रसव के थे, न कि डॉक्टरों के हिस्से में कोई खराबी के कारण। बैरवा ने कहा कि नवजातों का वजन बहुत कम था और उनके परिजनों ने भी प्रसव के दौरान उचित निर्देशों का पालन नहीं किया, जिसके कारण गर्भवती माताएं गंभीर हालत में अस्पताल आईं।

जेके लोन अस्पताल ने 2019 में 963 मौतें दर्ज कीं। बहुत हंगामे के बाद बनी समिति ने अपनी रिपोर्ट में निष्कर्ष निकाला कि मौतें अस्पताल में ऑक्सीजन पाइपलाइन की कमी और अत्यधिक ठंड की स्थिति के कारण हुई हैं।

दुलारा ने आगे कहा, “अन्य सरकारी अस्पतालों की तुलना में, यह संख्या काफी कम है। इसके अलावा, एक दिन में एक मौत का मतलब है कि इस अस्पताल में मृत्यु दर गिर रही है, जो पिछले साल दिसंबर में 91 मौतों की गवाह थी।”

राजस्थान सरकार ने दिए जांच के आदेश

राजस्थान सरकार ने मंगलवार को मेडिकल कॉलेज से जुड़े अस्पतालों में सभी मेडिकल उपकरणों के फंक्शनल स्टेटस की जांच का आदेश दिया।

संबंधित पोस्ट

एफआईएच प्रो लीग से भारत करेगी टोक्यो ओलंपिक की तैयारियां

धोनी बीसीसीआई की वार्षिक अनुबंध सूची से बाहर

जख्मी भारत वापसी को बेताब

बैडमिंटन : इंडोनेशिया मास्टर्स के पहले ही दौर में हारे श्रीकांत, सौरभ

महिंदा राजपक्षे का भारत दौरा फरवरी में

पाकिस्तानी टिड्डियों की फौज के खात्मे को मंत्री ने भेजा ड्रोन

ननकाना साहिब पर हमले के खिलाफ भारत में प्रदर्शन शुरू

लश्कर का वांछित आतंकी श्रीनगर से गिरफ्तार

उप्र पुलिस ने इमरान का भांडा फोड़ा

पाकिस्तान में गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर हमला

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में बनेगा भारत का दूसरा स्पेसपोर्ट : इसरो

नए साल के पहले दिन भारत में 69 हजार बच्चे जन्मे