दिल्ली पुलिस ने की व्हाट्सएप्प ग्रुप ‘यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट’ के 37 सदस्यों की पहचान

जेएनयू हिंसा में इस व्हाट्सएप्प ग्रुप की संलिप्तता का संदेह

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने एक व्हाट्सएप्प ग्रुप ‘यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट’ के सदस्यों की पहचान की है। 5 जनवरी को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के परिसर में में हिंसा कराने के पीछे इस व्हाट्सएप्प ग्रुप के होने का संदेह किया जा रहा है। इस व्हाट्सएप ग्रुप में 60 लोग थे। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की विशेष जांच टीम (SIT) ने 60 में से 37 की पहचान की है। माना जा रहा है कि लगभग 10 लोग जेएनयू के बाहर से हैं।

पुलिस इन व्हाट्सएप्प ग्रुपों के गठन के पीछे की बड़ी साजिश की भी जांच कर रही है। सूत्रों ने बताया कि हिंसा से जुड़े व्हाट्सएप्प ग्रुप वामपंथी समर्थित छात्र संगठनों और भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) से जुड़े थे। पुलिस का मानना है कि दोनों गुटों ने बाहरी लोगों की मदद ली।

जेएनयू परिसर में हिंसा के संबंध में दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को नौ छात्रों की पहचान संदिग्ध के रूप में की, जिनमें से विश्वविद्यालय छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष सहित सात छात्र वाम संगठनों से जुड़े हैं। एसआईटी के प्रमुख, पुलिस उपायुक्त (अपराध शाखा) जॉय तिर्की ने बताया कि एसएफआई, एआईएसए, डीएसएफ और एआईएसएफ से जुड़े छात्रों ने हाल में शीतकालीन सत्र के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरू होने पर बवाल काटा था और छात्रों को डराया था। उन्होंने कहा कि ऐसा माना जाता है कि एक व्हाट्सएप्प ग्रुप ‘यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट’ बना है।

 

जेएनयू में पांच जनवरी को नकाबपोशों द्वारा किए गए हमले में 30 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। दिल्ली पुलिस ने जिन लोगों की संदिग्ध के रूप में पहचान की उनमें लेफ्ट संगठनों से जुड़े डोलन सामंता, प्रिय रंजन, सुचेता तालुकदार, आइशी घोष, भास्कर विजय मेच, चुनचुन कुमार (पूर्व छात्र) और पंकज मिश्रा शामिल हैं। वहीं अन्य दो संदिग्धों की पहचान विकास पटेल और योगेंद्र भारद्वाज के रूप में हुई है जो एबीवीपी से जुड़े हैं।

संबंधित पोस्ट

जेएनयू हिंसा : व्हाट्सएप्प ग्रुप के फोन जब्त करने के आदेश

जेएनयू पर डाॅ.रमन सिंह, बेनकाब हुए लेफ्ट समर्थक युवकों के चेहरे

पाखंडी, रेप के आरोपी स्वामी ओम की स्वरा पर गालियों की बौछार

जेएनयू हिंसा : हिंदू रक्षा दल ने ली जिम्मेदारी

जेएनयू हिंसा : जेएनयूएसयू की अध्यक्ष आइशी घोष सहित 19 के खिलाफ मामला दर्ज

उद्धव ठाकरे ने कहा- आतंकी हमले की तरह जेएनयू हिंसा

जेएनयू हिंसा के लिए आखिर जिम्मेदार कौन?

जेएनयू में हिंसा से स्तब्ध हूं : केजरीवाल

रणभूमि में तब्दील हुआ जेएनयू कैम्पस

JNU छात्रों को भड़का रहे थे विपक्षी बड़े नेता, अगुवा बने थे वाम संगठन

प्रदर्शन के बाद वापस ली गई JNU हॉस्टल की बढ़ी हुई फीस

स्वामी श्रद्धानंद कॉलेज,दिल्ली में प्रिंसिपल का पोस्ट रिक्त