दिग्गी के बड़बोले बोल ” महात्मा गाँधी और कार्ल मार्क्स में थोड़ा ही फर्क “

दिग्गी ने खुद को बताया कन्हैया कुमार का समर्थक

 

भोपाल। मध्यप्रदेश पूर्व मुख्यमंत्री और भोपाल से कांग्रेस के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह का एक बार फिर विवादित बयान मीडिया में छाया हुआ है। दिग्विजय ने मीडिया में दिए हुए बयान में यह कहा है कि कन्हैया कुमार पर देश विरोधी नारे लगाने के सरे आरोपों झूठे है।

दिग्विजय सिंह                                          उन्होंने कहा कि भाजपा और आरएसएस के लड़कों को खड़ा कर टुकड़े टुकड़े में नारे लगवाए और दूसरों को बदनाम किया गया। यह बयान दिग्विजय ने रविवार को भोपाल से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के दफ्तर में दिया। इतना ही नहीं दिग्विजय नहीं बिहार के बेगूसराय लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे कन्हैया कुमार के लिए खुद को उनका समर्थक बताया है। वहीं दिग्विजय ने यह भी कहा कि दिग्विजय के पक्ष में प्रचार करने के लिए खुद कन्हैया कुमार 8 और 9 मई को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में दो बड़ी आम सभाएं करने जा रहे हैं।

 

हमारी जीत का कारण था लेफ़्ट – दिग्विजय
दिग्विजय ने मीडिया में चर्चा करते हुए यह भी कहा कि माकपा की विचारधारा लड़ाई लड़ने वाली है। उन्होंने कहा कि साल 2009 में जो जीत हमें मिली थी, उसमें सबसे बड़ा कारण यह था कि लेफ्ट हमारे साथ था। दिग्गी ने कहा कि कांग्रेसी इंद्रधनुष की तरह है। इसके लाइफ सेंटर सब है, वहीं महात्मा गांधी और कार्ल मार्क्स को एक से विचारधारा का बताते हुए यह भी कहा है कि महात्मा गांधी और कार्ल मार्क्स में थोड़ा सा ही फर्क था।