ई-रेल टिकट खुद रद्द न करें, मिलेगा कम रिफंड

आईआरसीटीसी ने अपने ग्राहकों को दी सलाह

नई दिल्ली। भारतीय रेल खान-पान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने बुधवार को कहा कि देशभर में लॉकडाउन के कारण रेलवे द्वारा ट्रेन रद्द करने की सूरत में वे अपने ई-रेल टिकट को खुद रद्द न करें। कोरोनावायरस के प्रकोप की रोकथाम के मद्देनजर देश में तीन सप्ताह के लिए लॉकडाउन कर दिया गया है और इस दौरान सड़क एवं रेल यातायात बंद कर दिया गया है।

आईआरसीटीसी प्रवक्ता सद्धार्थ सिंह ने कहा कि रेलवे द्वारा परिचालित पैसेंजर ट्रेनों की सेवा बंद करने के बाद ई-टिकट खरीदने वाले यात्रियों को टिकट का रिफंड स्वत: मिल जाएगा। इसके लिए उनको ई-टिकट रद्द करने की आवश्यकता नहीं है।

उन्होंने कहा कि अगर यात्री ई-टिकट रद्द करते हैं तो संभव है कि रिफंड कम मिलेगा।

इसलिए यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वे ट्रेन रद्द होने की सूरत में वे अपने ई-टिकट खुद रद्द न करें।

(आईएएनएस)

संबंधित पोस्ट

लॉकडाउन : शैक्षिक और फिटनेस ऐप पर अधिक समय बिता रहे भारतीय

Corona Update : लॉकडाउन के 15वें दिन तक संक्रमण के मामले 5000 पार

लॉकडाउन में अर्थव्यवस्था के मुकाबले स्वास्थ्य सर्वोपरि : नायडू

Corona Effect : उप्र में लॉकडाउन खुलने में हो सकती है देरी : अपर प्रमुख सचिव

LockDown : आर्टिस्ट ने बंद भारत के जज्बातों को अपनी तस्वीर में दी जगह

LockDown : 1000 करोड़ रुपये के फसल बीमा दावों का भुगतान

Corona Effect : लॉकडाउन के दौरान शारीरिक रूप से सक्रिय रहें

Corona Effect : मध्यप्रदेश में पैर पसार रहा कोविड-19

उप्र : योगी ने दिया संकेत, 15 अप्रैल से यूपी में चरणों में हटेगा लॉकडाउन

Video : कर्फ़्यू में घर से बाहर निकले तो पुलिस कराएगी ऐसा योगा

लॉकडाउन : बिहार झारखंड के मजदूरों ने लगाया कीड़े वाला खाना देने का आरोप

दो भिंडी व चार टमाटर का बहाना बनाकर घर से निकले और सीधे पहुंचे कोतवाली…