फडणवीस को इसलिए सीएम बनाया गया था, जाने सांसद हेगड़े ने क्या कहा

फडणवीस बोले-CM के रूप में मेरे द्वारा ऐसा कोई बड़ा नीतिगत निर्णय नहीं

नई दिल्ली। कर्नाटक से भाजपा के सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने चौंकाने वाला बयान दिया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि देवेंद्र फडणवीस को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री केंद्र के 40,000 करोड़ रुपये का दुरुपयोग होने से रोकने के लिए बनाया गया था। ज्ञात हे कि हेगड़े हमेशा ही विभिन्न मुद्दों पर विवादित बयान देकर चर्चा में आते रहे हैं।
दरअसल उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने से कुछ दिन पहले फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में और राकांपा के अजित पवार ने उप मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। फडणवीस के पास बहुमत नहीं था इसके बावजूद वह मुख्यमंत्री बने।

कर्नाटक के उत्तर कन्नड़ से भाजपा सांसद हेगड़े ने सप्ताहांत में कहा कि इस धनराशि का शिवसेना की अगुआई वाला विपक्षी गठबंधन दुरुपयोग करता। हेगड़े ने दावा किया कि फडणवीस को यह राशि निकालने में सिर्फ 15 घंटे लगे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार हेगड़े ने दावा किया कि यह पूरी राशि केंद्र सरकार के पास वापस पहुंच गई। हेगड़े ने दावा किया कि भाजपा ने यह राशि बचाने के लिए पूरा नाटक किया। उन्होंने कहा कि भाजपा जानती थी कि महाराष्ट्र में उसके पास बहुमत नहीं है, लेकिन यह सबकुछ केंद्र की राशि को बचाने के लिए किया गया। इस दावे की हालांकि अभी पुष्टि नहीं हुई है।

इधर अनंत के हेगड़े (भाजपा) की टिप्पणी पर महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और भाजपा नेता देवेंद्र फड़नवीस, ‘देवेंद्र फडणवीस सीएम बने और 15 घंटे में उन्होंने केंद्र से 40,000 करोड़ रुपये वापस ले लिए’ सीएम के रूप में मेरे द्वारा ऐसा कोई बड़ा नीतिगत निर्णय नहीं लिया गया है। ऐसे सभी आरोप झूठे हैं।

कांग्रेस का हमला
इधर कांग्रेस ने इस पर भाजपा पर हमला बोला है। कांग्रेस के मीडिया प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री से इस पर जवाब मांगा है। सुरजेवाला ने ट्वीट किया, “एक केंद्रीय मंत्री ने खोली मोदी सरकार की पोल। भाजपा का महाराष्ट्र विरोधी चेहरा बेनकाब हुआ। क्या संघीय ढांचे को पांव तले रौंद दिया गया? क्या जनता व किसान की भलाई के 40,000 करोड़ रुपये एक षड्यंत्र के तहत वापस ले लिए गए? प्रधानमंत्री जबाब दें!”