फिनलैंड में अब हफ्ते में 3 दिन, 6 घंटे काम, चार दिन आराम

पीएम के इस प्रस्ताव की दुनियाभर में चर्चा

फिनलैंड। फिनलैंड की पीएम एक बार फिर अपने अनोखे प्रस्ताव से सुर्खियों में आ गई हैं। इसके पहले वे उस वक्त दुनियाभर में सुर्खियों में आई थी जब वे पीएम बनीं। दरअसल, दुनिया की सबसे कम उम्र की पीएम फिनलैंड की सना मोरिस ने जो प्रस्ताव रखा है वैसा प्रस्ताव हर कर्मचारी की हसरत होती है। सना मोरिस ने जो प्रस्ताव पेश किया है उसके मुताबिक सभी कर्मचारियों को हर सप्ताह तीन दिनों की छुट्टियां मिले और बाकी के चार दिन रोजाना सिर्फ छह घंटे काम करना पड़ेगा। इस प्रस्ताव का उद्देश्य कर्मचारियों की उत्पादकता में सुधार करना है। अभी फिनलैंड में लोग हफ्ते में 5 दिन, 8 घंटों के लिए काम करते हैं।

पीएम के इस प्रस्ताव का पूरे देश के कर्मचारी स्वागत कर रहे हैं। सभी का कहना है कि हर कर्मचारी चाहता है कि उसे पर्याप्त छुट्टियां मिलें। पीएम का ये कदम स्वागतयोग्य है।

सना ने कहा कि ऐसा करने से लोग अपने परिवार के साथ अधिक वक्त बिता सकेंगे। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक सना ने कहा, ”मुझे लगता है कि लोगों को अपने परिवार, चाहने वालों और अपने शौक या जिंदगी के अन्य मानकों, जैसे सांस्कृति के लिए अधिक वक्त मिलना चाहिए। यह हमारी कामकाजी जिंदगी का अगला कदम हो सकता है।”

सना ने कहा कि, ”यह जरूरी है कि फिनलैंड के लोगों को कम काम करने की इजाजत दी जाए। ये इसलिए क्योंकि इससे लोगों की मदद होगी और हम मतदाताओं से किए गए वादे को निभा पाएंगे।”

बता दें कि माइक्रोसॉफ्ट ने जापान और यूके की एक कंपनी पॉर्टकुलिस लीगल ने भी हफ्ते में 3 दिन की छुट्टी की पॉलिसी बनाई थी। इसके बाद वहां के कर्मचारियों में भी सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिला और काम की गुणवत्ता में भी वृद्धि हुई।