गुजरात पुलिस ढूंढते रह गई और इस बाबा ने नया देश बना डाले

भगोड़े बाबा ने बना लिया अपना नया ठिकाना

नई दिल्ली। बलात्कार और अनुयायियों को बंधक बनाकर रखने के आरोपी भगोड़े जिस स्वयंभू बाबा नित्यानंद को गुजरात पुलिस ढंढते रह गई उसने अपना नया देश बना लिया। उसने नया ध्वज, नया संविधान तथा नया प्रतीक चिह्न भी तय कर लिया है। इतना ही नहीं इस देश में प्रधानमंत्री से लेकर तमाम विभाग बना लिए। अपना पासपोर्ट भी बना लिया। अमरीका से इसे मान्यता देने की अपील की गई है। Kailaasa.org नामक वेबसाइट से यह खुलासा हुआ है।

साइबर विशेषज्ञों के अनुसार, इस वेबसाइट को 21 अक्टूबर, 2018 को बनाया गया था, और इसे आखिरी बार 10 अक्टूबर, 2019 को अपडेट किया गया था। वेबसाइट का रजिस्ट्रेशन पनामा में किया गया था, और इसका IP अमेरिका के डलास में स्थित है। यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि यह तथाकथित देश ‘कैलाश’ किस स्थान पर है। मीडिया में चर्चा है कि यह त्रिनिदाद और टोबैगे के पास इक्वाडोर के पास एक द्वीप पर है। हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं हुई है।
वहीं वेबसाइट के अनुसार, ‘कैलाश सीमारहित राष्ट्र है, जिसका निर्माण दुनियाभर में बेदखल कर दिए गए उन हिन्दुओं ने किया है, जो अपने-अपने देश में प्रामाणिक रूप से हिन्दुत्व का पालन करने का अधिकार गंवा चुके हैं। वेबसाइट के मुताबिक, इस हिन्दू राष्ट्र का अपना ध्वज भी है, जिसे ‘ऋषभ ध्वज’ के रूप में जाना जाता है, जिसमें भगवान शिव के वाहन नंदी के साथ स्वयं नित्यानंद भी मौजूद है. ‘कैलाश’ में कई सरकारी विभाग भी होंगे, जिनमें शिक्षा, वित्त, वाणिज्य आदि शामिल हैं। नित्यानंद ने अपने एक करीबी अनुयायी ‘मा’ को प्रधानमंत्री नियुक्त किया है। वेबसाइट पर संविधान और सरकारी ढांचे की जानकारी दी गई है। इनके अलावा ‘कैलाश’ में एक ‘प्रबुद्ध नागरिकता विभाग’ भी होगा, जो सनातन हिन्दू धर्म को पुनरुज्जीवित करने की दिशा में काम करेगा.
वेबसाइट में देश के लिए चंदा देने का आह्वान भी किया गया है, जिसके ज़रिये चंदा देने वाले ‘महानतम हिन्दू राष्ट्र’ की नागरिकता पाने का अवसर हासिल कर सकते हैं।
वेबसाइट में यह दावा भी किया गया है कि ‘कैलाश’ का अपना पासपोर्ट भी होगा, और कोई भी देश की नागरिकता के लिए आवेदन कर सकता है। और परमशिव की कृपा से पासपोर्टधारक कैलाश सहित सभी 11 दिशाओं तथा 14 लोकों में निर्बाध प्रवेश पा सकेगा।