हरियाणा चुनाव : कुमारी शैलजा बोली – कांग्रेस में सब ठीक, हर वादा करेंगे पूरा

कांग्रेस ने घोषणा पत्र में क़र्ज़ माफ़ी, फसल बिला, क्षतिपूर्ति देने का किया ऐलान

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में पार्टी को हार का सामना करने के बाद हरियाणा में विधानसभा चुनाव कांग्रेस के लिए एक बड़ी चुनौती है। 21 अक्टूबर को होने वाले मतदान के ऐलान के महज़ कुछ दिन बाद ही कांग्रेस ने यहाँ अपना प्रदेश अध्यक्ष बदला था। कांग्रेस ने कुमारी शैलजा को हरियाणा की जिम्मेदारी सौपी थी। इसके पहले हरियाणा पीसीसी की जिम्मेदारी निभा रहे अशोक तंवर ने बागी तेवर दिखाकर पार्टी छोड़ी थी। तंवर की नाराज़गी के बाद पीसीसी चीफ बनी सुश्री शैलजा ने कहा कि “कांग्रेस में सब ठीक है, कांग्रेस की तुलना में भाजपा में अधिक घुसपैठ है।”


कांग्रेस पार्टी ने शनिवार को अपना घोषणापत्र भी जारी किया। जिसमें अन्य बातों के अलावा कृषि ऋण माफी का वादा किया गया था। बेरोजगारी भत्ता, राज्य में सरकारी नौकरियों और निजी संस्थानों में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण, पंचायती राज संस्थाओं, नगर पालिका निगमों और नगर परिषदों में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण, अनुसूचित जातियों और अत्यंत पिछड़े वर्गों के छात्रों को छात्रवृत्ति और महिलाओं के स्वामित्व वाली संपत्तियों के लिए गृह कर में 50 प्रतिशत की छूट का अभी ऐलान किया गया है।

भाजपा के पास नहीं है मुद्दे-शैलजा
भाजपा द्वारा उठाए गए मुद्दों के बारे में पूछे जाने पर शैलजा ने कहा “भाजपा ने 150 चीजों का वादा किया था, लेकिन पिछले पांच वर्षों में इसने कुछ भी नहीं किया है। यह धारा 370 के प्रावधानों और नागरिकों के NRC के स्क्रैपिंग जैसे मुद्दों को उठा रहें है। ये हरियाणा में मुद्दे नहीं हैं।” यह पूछे जाने पर कि क्या यह संभव है कि किसानों को फसल की क्षति / सूखा की भरपाई के लिए 12,000 रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से उनकी पार्टी ने वादा किया है इस पर उन्होंने जवाब देते हुए कहा “अगर पैसा जनता का है, तो इसे किसानों को क्यों नहीं बांटा जा सकता। कांग्रेस हर चीज का ध्यान रखेगी और सभी वादे पूरे करेगी।”