हिंदी दिवस : शाह बोले हिंदी के लिए एक जुट हो देश

देश को एकता की डोर में बांधती है हिंदी-शाह

नई दिल्ली। हिंदी दिवस पर आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भारत को देश की सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा – हिंदी के साथ एकजुट होने की अपील की। उन्होंने ट्वीट में किया कि “भारत विभिन्न भाषाओं का देश है और हर भाषा का अपना महत्व है परन्तु पूरे देश की एक भाषा होना अत्यंत आवश्यक है जो विश्व में भारत की पहचान बने। आज देश को एकता की डोर में बाँधने का काम अगर कोई एक भाषा कर सकती है तो वो सर्वाधिक बोले जाने वाली हिंदी भाषा ही है।”

अमित शाह ने हिंदी दिवस पर आज के दिन के महत्व को चिह्नित करते हुए कहा – जब भारत की संविधान सभा ने हिंदी को भारत की आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया था। हिंदी भाषा जो देवनागरी लिपि में लिखी जाती है, देश की 22 अनुसूचित भाषाओं में से एक है। हालाँकि, हिंदी केंद्र सरकार की दो आधिकारिक भाषाओं में से एक है, अन्य अंग्रेजी है।

22 भाषाओं की अनुसूची
भारत में राष्ट्रीय स्तर पर दो आधिकारिक भाषाएँ हैं और राज्य स्तर पर मान्यता प्राप्त 22 अनुसूचित भाषाएँ हैं, देश के पास कोई राष्ट्रीय भाषा नहीं है। एक राष्ट्रीय भाषा का उद्देश्य एक देशभक्ति और राष्ट्रवादी पहचान है, जबकि आधिकारिक स्तर पर संचार के उद्देश्य के लिए एक आधिकारिक भाषा और अनुसूचित भाषाओं को विशुद्ध रूप से नामित किया जाता है।