हैदराबाद बलात्कार : थाने थाने भटकते रहे माँ-बाप…नहीं मिली थी मदद

राज्यपाल ने दिलाया जल्द न्याय मिलने का आश्वासन

हैदराबाद। हैदराबाद में हुए वेटरनरी डॉक्टर से गैंग रेप और हत्या के मामले में देशभर में गुस्सा फूटा है। यह गुस्सा देश की कानून व्यवस्था संभाल रहे वर्दी वालों के खिलाफ है। हर कोई ये कह रहा है तो शायद वो बच सकती थी।
दरअसल इस मामले में मृतिका के पिता ने मीडिया से बातचीत के दौरान इस बात का खुलासा किया कि जब उनकी बेटी को तलाश करने पूरा परिवार भटक रहा था और पुलिस से मदद मांगने और कंप्लेन करने थाने पहुंचा, तो उन्होंने अपना इलाका नहीं आने की बात कहकर उन्हें दूसरे थाने में भेज दिया। उनके पिता का कहना है कि उन्हें एक थाने से दूसरे थाने केवल यह कहकर लौटाया गया क्या यह मामला हमारे थाना क्षेत्र का नहीं है, बल्कि जिस थाना क्षेत्र का है आप वहां जाकर कंप्लेन करें। इस एक थाने से दूसरे थाने तक पहुंचने और शिकायत करवाने तक नहीं तकरीबन आधे से 1 घंटे का वक्त इस परिवार ने जाया किया। पीड़ित के पिता ने यह भी मांग रखी है कि जो आरोपी है, उनके खिलाफ सख्त से सख्त सजा तय हो। इन आरोपियों को देश का कोई भी वकील इनकी ओर से कोर्ट में खड़े ना हो, जिससे उनके बेटी को पूर्ण और फास्ट ट्रैक कोर्ट में न्याय मिल सके।

इधर तेलंगाना की राज्यपाल सौंदरराजन ने इस मामले पर संवैधानिक और कानूनी तौर पर हर संभव कोशिश करने का भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा कि वह कोशिश करेंगी कि पीड़ित परिवार को त्वरित अदालत के गठन के साथ ही जल्द से जल्द न्याय मिले राज्यपाल ने इस बात का प्रयास रहेगा। इस मामले की सुनवाई दैनिक आधार पर हो इस बात के लिए राज्यपाल सौंदरराजन ने हाईकोर्ट के चीफ़ जस्टिस से चर्चा करने की बात कहीं है। गवर्नर सौंदरराजन ने कहा कि पुलिस को जल्द से जल्द जांच पूरी करने और आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर करने निर्देशित किया गया है। गौरतलब है कि राज्यपाल सौंदरराजन ने पीड़ित परिवार से उनके निवास पर जाकर मुलाकात की है।
गौरतलब कि पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिनके नाम मोहम्मद आरिफ, जोल्लू शिवा, जोल्लू नवीन और चिंतकुंता चेन्नाकेशवुलु है। पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।