जेएनयू में हिंसा से स्तब्ध हूं : केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में रविवार को हुई हिंसा पर दुख जताया। कुछ नकाबपोश हमलावरों ने जेएनयू परिसर में घुसकर छात्र-छात्राओं और शिक्षकों की पिटाई की। केजरीवाल ने ट्वीट के जरिए कहा, “जेएनयू में हिंसा के बारे में जानकर मैं स्तब्ध हूं। छात्रों पर बर्बरता के साथ हमले किए गए। पुलिस को शीघ्र हिंसा पर लगाम लगाकर शांति बहाल करनी चाहिए। अगर हमारे छात्र विश्वविद्यालय के भीतर सुरक्षित नहीं होंगे तो देश कैसे तरक्की करेगा।”

विश्वविद्यालय परिसर में हुए बवाल में जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष समेत कई छात्र बुरी तरह जख्मी हुए हैं। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एवीवीपी) और वाम दलों से जुड़े संगठन के छात्रों के बीच विश्वविद्यालय परिसर में रविवार की शाम टकराव हुआ। कथिततौर पर मारपीट में बाहरी लोग भी शामिल थे।

घटनास्थल से प्राप्त विजुअल में आइशी घोष के शरीर से काफी खून निकलता देखा जा रहा है। आइशी को कथिततौर पर लोहे की छड़ से उनकी आंख पर हमला किया गया। उनको पास के अस्पताल ले जाया गया है।

जेएनयूएसयू के महासचिव सतीश चंद्र भी घायल हुए हैं और कुछ शिक्षकों पर भी कथिततौर पर हमले किए गए हैं।

संबंधित पोस्ट

अरविंद केजरीवाल छह घंटे के लंबे इंतजार के बाद अपना पर्चा भरा

जेएनयू हिंसा : व्हाट्सएप्प ग्रुप के फोन जब्त करने के आदेश

दिल्ली पुलिस ने की व्हाट्सएप्प ग्रुप ‘यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट’ के 37 सदस्यों की पहचान

पाखंडी, रेप के आरोपी स्वामी ओम की स्वरा पर गालियों की बौछार

जेएनयू हिंसा : हिंदू रक्षा दल ने ली जिम्मेदारी

जेएनयू हिंसा : जेएनयूएसयू की अध्यक्ष आइशी घोष सहित 19 के खिलाफ मामला दर्ज

उद्धव ठाकरे ने कहा- आतंकी हमले की तरह जेएनयू हिंसा

जेएनयू हिंसा के लिए आखिर जिम्मेदार कौन?

रणभूमि में तब्दील हुआ जेएनयू कैम्पस

JNU छात्रों को भड़का रहे थे विपक्षी बड़े नेता, अगुवा बने थे वाम संगठन

प्रदर्शन के बाद वापस ली गई JNU हॉस्टल की बढ़ी हुई फीस