मोटी मेहनताने से बेटी की शादी कराऊंगा – पवन

मेरठ। “मोटी मेहनताने से घर में 18 साल की कुंवारी बैठी बेटी ब्याह (बेटी की शादी) दूंगा साहब। कुछ और जरूरत हुई पैसों की तो जैसे बाकी तीन बेटियों की शादी के लिए उधार लिया था, वैसे इसके लिए भी आपसदारी में कुछ लोगों से ले लूंगा। यह तो भगवान का शुक्रिया है कि दिल्ली की अदालत ने इन चारों को (निर्भया के हत्यारे) फांसी पर लटकाने का हुक्म सुना दिया। वरना जिंदगी अब बेजार सी लगने लगी है।“

ये लब्ज़ थे पवन जल्लाद के। पवन जल्लाद, जिसे निर्भया के कातिलों को फांसी देने का हुक्म मिला है। उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में रहने वाले पवन जल्लाद की उम्मीदें तब से बढ़ गईं हैं, जब से दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत ने निर्भया के कातिलों को एक साथ फांसी देने का ‘डेथ-वारंट’ (सजा-ए-मौत का फरमान) जारी किया है।

आसमान की ओर दोनों हाथ जोड़कर पवन जल्लाद ईश्वर के साथ-साथ, तिहाड़ जेल प्रशासन और उत्तर प्रदेश जेल महानिदेशालय का बार-बार शुक्रिया अदा करता है, क्योंकि निर्भया के कातिलों को फांसी पर लटकाने की एवज में उसे एक लाख रुपये जैसी ‘मोटी पगार’ (मेहनताना) जिंदगी में पहली देखने को मिलेगी। मेहनताने में हासिल इस रकम से पवन जल्लाद घर में क्वांरी बैठी 18 साल की बेटी की शादी कर देगा।

निर्भया कांड के कातिलों को फांसी पर चढ़ाने को लेकर देश में और भी मौजूद एक-दो जल्लादों में से कोई इतना बे-सब्र नहीं है जितना पवन फिलहाल है। पवन जल्लाद का कहना है कि पांच बेटियां और दो बेटे मतलब 7 संतान जिस पिता के सहारे हों, इस महंगाई के जमाने में, सोचिये उसकी जरूरतों का आलम क्या होगा?”

उसने कहा, “इन चारों को फांसी पर लटकाने की एवज में एक लाख रुपये एक साथ हाथ में आने की उम्मीद बंधी है।”

पवन जल्लाद ने कहा, “इस वक्त मैं 57 साल का हो चुका हूं। मैंने अपने जीवन में इससे पहले कभी, इतनी बड़ी रकम फांसी के बदले मेहनताने के रूप में मिलती हुई न देखी न सुनी। कहने को भले ही मैं देश में खानदानी जल्लाद क्यों न होऊं।”

“मेरे परदादा लक्ष्मन जल्लाद थे। दादा कालू राम उर्फ कल्लू और पिता मम्मू भी पुश्तैनी जल्लाद थे। दादा ने रंगा-बिल्ला से लेकर इंदिरा गांधी के हत्यारे सतवंत सिंह केहर सिंह तक को इसी तिहाड़ जेल में फांसी पर लटकाया था। लेकिन वो जमाना औने-पौने मेहनताने का था। आने-जाने का खर्चा और जेल में एक दो रात अच्छे से रहने के इंतजाम से ही हमारे पुरखे सब्र कर लेते थे। आज महंगाई का जमाना है। पहले गरीब आदमी रोटी-नमक-प्याज खाकर जिंदगी बसर कर लेता था। आज प्याज देश में 150 रुपये किलो बिक रहा है।”

पवन जल्लाद ने दिल में छिपे दर्द को बेबाकी से बयान करते हुए कहा, “कई साल पहले भूमिया पुल (मेरठ) इलाके में पुश्तैनी मकान था। वह बारिश में ढह गया। उस दिन पत्नी मकान के मलबे में दब गई। बड़ी कोशिशों से उसे ढहे मकान के मलबे से निकाला गया, तभी से मैं अब मेरठ जिला प्रशासन से कांशीराम आवास योजना के तहत मिले एक छोटे से मकान में जिंदगी के दिन-रात जैसे-तैसे रो-पीटकर काट रहा हूं। तीन बड़ी बेटियों की शादी को उधार लिए 5-6 लाख रुपये अभी तक नहीं निपटे। नकद पर ब्याज और चढ़ता जा रहा है।”

पवन ने कहा, “अब तो साहब बस 22 जनवरी 2020 का इंतजार है, ताकि मैं तिहाड़ जेल जाकर उन चारों को लटका कर अपना एक लाख मेहनताना तिहाड़ जेल अफसरों से ले सकूं।”

पवन जल्लाद को पूरी उम्मीद है कि निर्भया के हत्यारों को फांसी लगने के बाद शायद यूपी और तिहाड़ जेल के अफसर खुश होकर कुछ इनाम-इकराम मेहनताने (एक लाख रुपये के अलावा) से अलग भी दे दें।

अब तक के जीवन में दी गई अंतिम फांसी के बारे में पूछे जाने पर पवन जल्लाद ने कहा, “जहां तक मुझे याद है, वह समय 1988-89 का था। आगरा सेंट्रल जेल में बुलंदशहर के एक बलात्कारी और हत्यारे को दादा कालू राम जल्लाद के साथ लटकाने गया था। शायद उस जमाने में 200 रुपये मेहनताने में दादा को मिले थे। मैं यही सोचकर तब खुश था कि फोकट में ही सही, दादा के साथ कम से कम फांसी लगाना तो सीख रहा हूं।”

संबंधित पोस्ट

उत्तरप्रदेश से 13 मई को रायपुर पहुंचेंगे छत्तीसगढ़ के मज़दूर

उप्र : घाघरा नदी में नहाते समय 3 डूबे, 2 लापता

Corona Update : दिल्ली के कलावती सरन अस्पताल की 8 नर्से कोरोना संक्रमित

अगस्ता वेस्टलैंड मामला : मिशेल की अंतरिम जमानत याचिका खारिज

Corona Effect : राष्ट्रपति भवन में सेल्फ आइसोलेट होंगे 25 परिवार

पीएम किसान योजना के 8.89 करोड़ लाभार्थियों के खाते में भेजी गई रकम

स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने वाले कायरों को मिले कड़ी सजा : हेमा मालिनी

उप्र : योगी ने 4.81 लाख श्रमिकों के भरण-पोषण के लिए दी मदद

उप्र : सभी जिलों में बनेंगे कोविड-19 कलेक्शन सेंटर

उप्र : अस्पताल के कर्मचारियों के साथ जमातियों ने किया दुर्व्यवहार

Corona Effect : लखनऊ का छावनी क्षेत्र सील, सड़कों से दूर रहने की सलाह

दिल्ली : महिला के मुंह पर कोरोना पान-पीक थूकने वाला गिरफ्तार