पाकिस्तान : आईएमएफ कर्ज की किस्त के तहत फूटने जा रहा है बिजली-गैस बम

इस्लामाबाद। आर्थिक तबाही के कगार पर पहुंचने के बाद पाकिस्तान द्वारा अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) से लिए गए छह अरब डालर कर्ज की तीसरी किस्त जारी होने वाली है और इसी के साथ देश के आम लोगों की सांसें अटक गई हैं। कर्ज की शर्तों के तहत पाकिस्तानी जनता पर पहले से ही भारी आर्थिक बोझ पड़ चुका है और यह बोझ अब और गंभीर रूप लेने जा रहा है। ‘दुनिया न्यूज’ की रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख करते हुए कहा गया है कि 54 करोड़ डालर की इस तीसरी किस्त की शर्त के बदले में पाकिस्तान की जनता की जेब से अरबों रुपये निकालने की कवायद शुरू हो चुकी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि आईएमएफ द्वारा लगाई गई चार शर्तो के तहत गैस की कीमत में 214 फीसदी बढ़ोतरी हो सकती है और लगातार महंगी हो रही बिजली की मद में लोगों से चालीस अरब (पाकिस्तानी) रुपये और वसूले जाने की तैयारी हो रही है।

खाली खजाने को भरने के लिए आईएमएफ से सरकारें कर्ज लेती हैं जोकि कड़ी शर्तो के साथ मिलता है और जिसमें ढांचागत समायोजन और ‘आर्थिक सुधारों’ पर जोर रहता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इसी कर्ज की शर्तो के कारण साल 2020 के पहले तीन महीने पाकिस्तानी अवाम पर बहुत भारी पड़ने जा रहे हैं। बिजली और गैस की और महंगी दरें लोगों पर बम बनकर फटने वाली हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, पहली शर्त के तहत सभी निजी बिजली कंपनियों को पूर्ण उत्पादन क्षमता के तहत चलाने के लिए 155 अरब रुपये के वार्षिक कैपिसिटी चार्ज का 25 फीसदी हिस्सा आम लोगों से बिजली बिलों में वसूल किया जाएगा। यह रकम करीब 40 अरब रुपये होगी। इसी तरह गैस की कीमतों में 214 फीसदी की बढ़ोतरी भी की जाएगी।

आईएमएफ की दूसरी शर्त के तहत सरकार 28 फरवरी तक अपने आय-व्यय-बचत के रिकार्ड को संसद के समक्ष पेश करेगी।

तीसरी शर्त के तहत सरकार को स्टेट बैंक को स्वायत्त बनाने का विधेयक 31 मार्च तक संसद में पेश करना होगा।

आईएमएफ की चौथी शर्त के तहत सरकार को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) के दो अहम प्रावधानों को सख्ती से लागू करना होगा जिसमें बैंकों को ग्राहकों द्वारा किए जा रहे लेनदेन पर सख्ती से निगरानी करने को कहा गया है और इस प्रावधान को लागू करने वाली संस्थाओं को बैंक गोपनीयता कानून के दायरे से बाहर रखने को कहा गया है।

संबंधित पोस्ट

पाकिस्तान में 300 से अधिक सांसदों-विधायकों की सदस्यता निलंबित

पाक में सर्दी का कहर, अब तक 109 मौतें

पाकिस्तान में 28 साल बाद श्मशान स्थल से अवैध कब्जा हटा

पाकिस्तान के ननकाना साहिब की घटना का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

ननकाना साहिब पर हमले के खिलाफ भारत में प्रदर्शन शुरू

लाहौर हाईकोर्ट ने सजा के खिलाफ मुशर्रफ की अर्जी लौटाई

अपने ही बयान से पलटे दिग्विजय ट्वीटर पर निकाली खीज…

जम्मू कश्मीर के विकास का ख़ाका तैयार करेगा केंद्र सरकार का पैनल

Article 370 : 3 एयर रूट के बाद समझौता एक्सप्रेस भी बंद

SA vs PAK : टूट सकता है दक्षिण अफ़्रीका के हार का रिकार्ड

IND vs PAK : इस मैदान में बुरी तरह हारा पकिस्तान

SCO Summit में मोदी ने पाक पर तरेरी आँखें