भारत का कोर औद्योगिक उत्पादन मई में 23 प्रतिशत से अधिक लुढ़का

कोविड-19 महामारी है गिरावट का कारण

नई दिल्ली | भारत के आठ प्रमुख उद्योगों के उत्पादन की रफ्तार में मई 2020 में 23 प्रतिशत से अधिक की गिरावट दर्ज की गई। यह जानकारी मंगलवार को सरकारी आंकड़ों से सामने आई है। हालांकि आठ प्रमुख उद्योगों के सूचकांक में गिरावट की दर मई 2020 के दौरान आर्थिक गतिविधियों के आंशिक रूप से खोले जाने के कारण एक क्रमिक आधार पर धीमी हुई है।

क्रमिक आधार पर आठ प्रमुख उद्योगों का सूचकांक मई 2020 के लिए 23.4 प्रतिशत (प्रोविजनल) तक गिर गया। जबकि इसके पहले अप्रैल 2020 के दौरान यह 37 प्रतिशत (प्रोविजनल) गिरा था।

आठ प्रमुख उद्योगों (ईसीआई) में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफायनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और विद्युत शामिल हैं। औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में शामिल आइटम्स का 40 प्रतिशत हिस्सा ईसीआई का है।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने एक बयान में कहा है, “कोविड-19 महामारी के कारण अप्रैल और मई में लागू राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर विभिन्न उद्योगों जैसे कोयला, सीमेंट, इस्पात, प्राकृतिक गैस, रिफायनरी, कच्चा तेल आदि का उत्पादन काफी गिरा है।”

बयान में कहा गया है, “फरवरी 2020 के लिए आठ प्रमुख उद्योगों के सूचकांक की अंतिम वृद्धि दर संशोधित कर 6.4 प्रतिशत की गई है।”

–आईएएनएस