किसानों के तोड़फोड़ के बाद करनाल में खट्टर ने रद्द की किसान महापंचायत  

केमला गांव में बनाए गए अस्थायी हेलीपैड को भी तोड़ दिया, जहां खट्टर को उतरना था

करनाल (हरियाणा) | हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के आगमन से ठीक पहले रविवार को यहां ‘किसान महापंचायत’ कार्यक्रम में सैकड़ों किसानों ने तोड़फोड़ की और उत्पात मचाया, जिसके बाद सीएम का कार्यक्रम रद्द करना पड़ा।

तनाव तब फैला जब पुलिस ने ‘किसान महापंचायत’ के आयोजन का विरोध कर रहे किसानों पर आंसू गैस के गोले दागे।

जैसे ही किसानों ने कार्यक्रम स्थल में प्रवेश किया, उन्होंने सुरक्षा उद्देश्यों के लिए मंच के सामने लगाए गए बांस के बैरिकेड्स को तोड़ दिया और आस-पास के क्षेत्र में लगाए गए फूलों के बर्तनों, मेजों और कुर्सियों को क्षतिग्रस्त कर दिया। उन्होंने कार्यक्रम स्थल पर लगाए गए बैनर भी फाड़ दिए। चूंकि क्षतिग्रस्त फर्नीचर बिखरे हुए थे, पुलिस ने मूकदर्शक बने रहना पसंद किया।

सभा स्थल पर तोड़फोड़ करने से पहले, काले झंडे लेकर जा रहे किसानों ने निकटवर्ती केमला गांव में बनाए गए अस्थायी हेलीपैड को भी तोड़ दिया, जहां खट्टर को उतरना था। आंदोलनकारी किसानों ने हेलीपैड तक पहुंचने के लिए पुलिस द्वारा स्थापित छह चौकियों को तोड़ दिया।

इससे पहले, खट्टर के गृह निर्वाचन क्षेत्र में तनाव फैल गया था। तनाव तब फैला जब पुलिस ने ‘किसान महापंचायत’ के आयोजन का विरोध कर रहे किसानों पर आंसू गैस के गोले दागे।
Karnal: Tension prevailed in Haryana Chief Minister Manohar Lal Khattar's home constituency Karnal with the police firing teargas shells and using water cannons to disperse farmers, who had gathered there to oppose the holding of 'Kisan Mahapanchayat' aimed at highlighting the benefits of the three Central farm laws, on Jan 10, 2021. (Photo: IANS)
किसान महापंचायत स्थल पर, जब प्रदर्शनकारियों ने आयोजन स्थल में घुसकर तोड़फोड़ की तो बड़ी संख्या में अधिकारियों और कैबिनेट मंत्रियों के अलावा 2,000 से अधिक किसान मौजूद थे।

कार्यक्रम स्थल पर अराजकता,  तोड़फोड़ फैलने के बाद पुलिस ने मंत्रियों को सुरक्षित वहां से निकाला।

–आईएएनएस

संबंधित पोस्ट

प्रधानमंत्री की बैठक में फैसला, रद्द हुई 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं

रद्द नहीं होंगे प्रैक्टिकल और बोर्ड परीक्षाएं, बाद में देने की छूट

किसानों को मिल रहा लागत का डेढ़ गुना एमएसपी, खरीद में भारी इजाफा : वित्त मंत्री 

किसानों की ट्रैक्टर परेड पर निर्णय आज, करीब 30 किलोमीटर के हो सकते 3 रूट

राजनांदगांवः राज्य और केंद्र की नीतियों पर बरसे किसान

सीएम बोले : लाॅक डाउन में किसानों, मजदूरों के लिए रोजगार की माकूल व्यवस्था

लॉकडाउन से बुरे दौर में फंसे किसान पहुंचे प्रशासन के द्वार

मप्र : प्रदेश के हर किसान का होगा फसल बीमा – कृषि मंत्री

पीएम किसान योजना के 8.89 करोड़ लाभार्थियों के खाते में भेजी गई रकम

Corona effect : किसानों की मेहनत पर कोरना का कहर

लॉकडॉउन में किसानों को राहत, फसलों की बुवाई, कटाई पर रोक नहीं

राजनांदगाव : खराब मौसम से चौपट हुई फसल, टूटी किसानों की कमर