जामघाट उत्सव में पतंगबाजी ने लखनऊ में 5 बार रोक दी मेट्रो ट्रेन

चीनी मांझा का निषिद्ध और प्रतिबंधित होने के बाद भी इसका उपयोग हुआ

लखनऊ| दिन में कम से कम 5 बार पतंगबाजी के चलते लखनऊ में मेट्रो ट्रेन सेवाओं में रुकावट आई। उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (यूपीएमआरसी) ने एक बयान में कहा है, “लखनऊ मेट्रो कॉरिडोर के पास पतंगबाजी के कारण मेट्रो की संपत्ति को नुकसान हो रहा है और ट्रेन सेवाएं बाधित हो रही हैं। सोमवार को कई बार ट्रेन सेवाओं में रुकावट आई लेकिन उन्हें तुरंत फिर से शुरू किया गया।”

मेट्रो कॉरिडोर के पास पतंग उड़ाने से न केवल ओवर हेड इलेक्ट्रिफिकेशन (ओएचई) के साथ धागे की उलझने के कारण ट्रेन सेवाओं में समस्या आती है, बल्कि यह पतंग उड़ाने वाले के लिए भी घातक साबित हो सकता है। ‘मांझा’ (धागा) में यदि कोई धातु तत्व है तो इसका 25,000 वोल्ट ओएचई के संपर्क में आना बेहद खतरनाक है।

बयान में आगे कहा गया कि ओएचई ट्रिपिंग के कारण मेट्रो सेवाओं को रोकना पड़ा और जांच में धातु के धागे भी ओएचई से उलझे मिले।Lucknow: Trial runs of Lucknow metro underway on Dec 28, 2018. (Photo: IANS)

यूपीएमआरसी के एक प्रवक्ता ने कहा, “ऑपरेशनल मेट्रो कॉरिडोर के पास इस प्रकार की घटनाएं बहुत खतरनाक होती हैं क्योंकि इससे ओएचई में बहुत अधिक वोल्टेज होने की वजह से करंट लगने से पतंग उड़ाने वाले को गंभीर चोटें आ सकती हैं या उसकी मौत भी हो सकती है।”

‘जामघाट’ उत्सव के कारण सोमवार को शहर में पतंगबाजी अपने चरम पर थी। केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार, चीनी मांझा (तांबे के तार का उपयोग करके तैयार किया गया धागा) का उपयोग निषिद्ध और प्रतिबंधित होने के बाद भी इसका उपयोग हुआ। लॉकडाउन के दौरान लखनऊ में चीनी मांझा के कारण 2 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

स्थिति पर संज्ञान लेते हुए यूपीएमआरसी ने  अपील की है कि वे  गंभीरता से लें और ऑपरेशनल मेट्रो कॉरिडोर के पास पतंग न उड़ाएं।  वहीँ यूपीएमआरसी जागरुकता अभियान भी चला रहा है।

–आईएएनएस

संबंधित पोस्ट

लखनऊ में भाजपा सांसद के बेटे को बदमाशों ने गोली मारी, अस्पताल में भर्ती

हिन्दुत्व समाज को जोड़ने का काम करता है : सुनील आंबेकर

चांद का नहीं हुआ दीदार, अब सोमवार को होगी ईद

सोशल मीडिया के जरिये बेटी को न्याय दिलाने की परिवार ने छेड़ी मुहिम

इनोवेशन : कोरोना संक्रमण रोकने में कारगर हेल्थ बैंड

उप्र : भीड़ के मद्देनजर आबकारी ने तय कर दी शराब खरीदने की सीमा

Lockdown Impact : सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा लोग खरीद रहे शराब

Corona Effect : उप्र में महामारी की लड़ाई में सुपर हीरो देंगे वायरस को मात

उप्र : रोजगार सृजन के उपायों पर ध्यान देने की जरूरत – केशव

उप्र : उपभोक्ताओं की संतुष्टि सुनिश्चित करें यूपीपीसीएल अध्यक्ष : ऊर्जा मंत्री

कोरोना से बचाव के लिए धूम्रपान से करें तौबा

LockDown Impack : उप्र में तस्करी तो रुकी लेकिन महंगे दामों पर अभी भी मिल रही है शराब